फिल्मी चक्कर

A Riveting Journey in ’12th Fail’: युवा के जीवन की संघर्षों और जीत की खोज को छूने का प्रयास करती ’12th Fail’ Movie

“12th Fail” Movie एक दिलचस्प और संबंधपूर्ण फिल्म है जो एक युवा प्रमुख के जीवन की संघर्षों और जीतों की खोज को छूने का प्रयास करती है, जो 12वीं कक्षा में असफल होने के बाद जीवन का सामना कर रहा है। इसे विद्यु विनोद चोपड़ा द्वारा निर्देशित किया गया है, यह फिल्म सामान्य सफलता की कहानियों से हटकर स्वयं को साहस, आत्म-खोज, और अपने शौक की पीछे पढ़ाई करने की महत्वपूर्णता पर प्रकट करती है।

फिल्म विक्रांत मस्सी द्वारा जीवंतता से निभाई गई है, जिसने 12वीं कक्षा में असफल होने के साथ जीवन के सभी पहलुओं को तथा अकादमिक असफलता के साथ जीवन की नई यात्रा पर कैसे निकला है।

स्क्रीनप्ले अच्छी तरह से तैयार किया गया है, हंसी और करुणा भरे क्षणों के बीच एक संतुलित संवाद है। डायलॉग यथार्थवादी हैं और आज की प्रतिस्पर्धी दुनिया में कई युवा व्यक्तियों के सामने आने वाली चुनौतियों से मेल खाते हैं। कथा केवल अकादमिक पिछड़ावे पर ही ध्यान केंद्रित नहीं होती, बल्कि व्यक्तिगत विकास, रिश्तों, और सामाजिक अपेक्षाओं की गहराईयों में जाती है।

समर्थन भूमिका, जिसमें विक्रांत मस्सी, और अन्य अभिनेताओं का समर्थन भी प्रशंसानीय है, जो कहानी को गहरा बनाते हैं। पात्रों के बीच की रस्मी रूप से सहमति है, जो दर्शकों को उनकी यात्राओं में भावनात्मक रूप से व्याप्त करती है।

फिल्म की सिनेमैटॉग्राफी अलग-अलग स्थलों की अंतर्दृष्टि को सुंदरता से कैद करती है, सड़कों की गौरीयों से लेकर शांतिपूर्ण गाँवों तक। संगीत कथा को समृद्धि देता है, मुख्य सीन्स के भावनात्मक प्रभाव को बढ़ाता है।

“12th Fail” सफलता और असफलता के पूर्वाग्रहों पर चुनौती देने में सफल रहती है, दर्शकों को उनकी अनूठापन को स्वीकार करने और सफलता की दिशा में बढ़ने की प्रेरणा देने और सीखने के लिए प्रेरित करती है। यह दिखाती है कि जीवन में सफलता का मतलब अकेले परीक्षा परिणामों में ही नहीं है, बल्कि व्यक्तिगत उन्नति, आत्म-समर्पण, और अपने सपनों की पूर्ति के माध्यम से भी हो सकता है।

फिल्म की उदारता, हास्य, और गहराईयों में छुपी भावनाओं के साथ, यह दर्शकों को सोचने और महसूस करने के लिए प्रेरित करती है। विद्यु विनोद चोपड़ा ने अपने निर्देशन के माध्यम से एक अद्वितीय कहानी को जीवंत और रोचक बनाया है, जिसे देखकर आप अपने स्वप्नों की पुनर्निर्माण की संभावना में महसूस करेंगे।

“12th Fail” एक अनुपम अनुभव है जो दर्शकों को सोचने पर मजबूर करता है और एक सकारात्मक दृष्टिकोण के साथ जीवन को नए संभावनाओं की दिशा में देखने के लिए प्रेरित करता है।

UPSC (संघ लोक सेवा आयोग) की परीक्षा में सफलता प्राप्त करना एक अत्यधिक कठिन प्रयास है और इसमें सफल होने के लिए अनेक छात्र-छात्राएं अपने कठिनाईयों को पार करने के लिए कड़ी मेहनत करती हैं। यहां कुछ प्रमुख कारण हैं जो UPSC अभ्यर्थियों की मेहनत को महत्वपूर्ण बनाते हैं:

  1. विस्तृत सिलेबस: UPSC का सिलेबस बहुत विस्तृत और विषयों के क्षेत्र में समृद्धि से भरा हुआ है। इसमें गहराई से ज्ञान और समझ की आवश्यकता होती है, जिसके लिए छात्रों को अच्छे से सब कुछ सीखना पड़ता है।
  2. बड़ी संख्या में प्रतिस्पर्धा: UPSC परीक्षा में लाखों छात्र-छात्राएं भाग लेते हैं, और सभी को एक बड़े स्तर पर प्रतिस्पर्धा करना पड़ता है। यहां तक कि एक छोटी सी ग़लती भी किसी को अगले चरण में पहुंचने से रोक सकती है।
  3. लम्बा समय: UPSC की प्रक्रिया लंबी होती है और इसमें तीन चरण – प्रारंभिक परीक्षा, मुख्य परीक्षा, और साक्षात्कार शामिल हैं। इसलिए, छात्रों को लंबे समय तक मेहनत करना पड़ता है, और इस दौरान उन्हें अपनी मेहनत को स्थायीता के साथ बनाए रखना पड़ता है।
  4. रिसोर्स मैनेजमेंट: UPSC की तैयारी में सफलता प्राप्त करने के लिए सही से सही पुस्तकें, स्टडी मैटीरियल्स, और सहारा बहुत ज़रूरी हैं। छात्रों को अच्छी तैयारी के लिए अपने समय और संसाधनों को सही ढंग से प्रबंधित करना पड़ता है।
  5. साक्षात्कार और व्यक्तिगतिकरण: सफल UPSC अभ्यर्थी को साक्षात्कार के दौरान भी बहुत तैयार रहना पड़ता है। उन्हें अपने विचार स्पष्ट रूप से व्यक्त करने की क्षमता होती है ताकि उनका परिचय परीक्षकों को हो सके।

UPSC अभ्यर्थियों की यह मेहनत और समर्पण उन्हें अधिकांश लोगों के लिए प्रेरित करती है और एक महत्वपूर्ण सेवा में योगदान करने का साहस प्रदान करती है।

Dr. Vikas Divyakirti

Dr. Vikas Divyakirti एक प्रमुख व्यक्ति हैं जो ‘दृष्टि IAS’ के संस्थापक और प्रबंध निदेशक हैं, जो 1999 से सिविल सेवा की तैयारी में सक्रिय है। उन्होंने अपने पेशेवर करियर की शुरुआत एक सहायक प्रोफेसर के रूप में दिल्ली विश्वविद्यालय में की थीं।

Dr. Vikas Divyakirti ने अपनी ऊँचाईयों को इस यात्रा में प्राप्त किया हैं और उनका साझा उद्दीपन आज दृष्टि IAS को भारत में सिविल सेवा की तैयारी के क्षेत्र में मान्यता प्रदान करने में मदद कर रहा है। उनका साहस और नेतृत्व छात्रों को निरंतर प्रेरित करता है ताकि वे अपने लक्ष्यों की प्राप्ति के लिए कड़ी मेहनत और समर्पण के साथ काम कर सकें।

Dr. Vikas Divyakirti ने दिल्ली विश्वविद्यालय में एक सहायक प्रोफेसर के रूप में अपने करियर की शुरुआत की और इसके बाद से ही सिविल सेवा की तैयारी के क्षेत्र में कार्य करने लगे। उन्होंने दृष्टि IAS को एक अग्रणी संगठन बनाया है, जिसने लाखों छात्रों को सिविल सेवा परीक्षा के लिए पूर्णता की दिशा में मार्गदर्शन किया है।

Dr. Vikas Divyakirti का योगदान भारतीय समाज में सिविल सेवा क्षेत्र में उच्च गुणवत्ता और सामरिक जवाबदेही की ओर एक महत्वपूर्ण कदम है। डॉ. विकास दिव्यकीर्ति की मेहनत, उनका समर्पण, और सिविल सेवा क्षेत्र में उनकी शिक्षा में उनका सौभाग्य भारतीय युवा और तैयारी कर रहे छात्रों के लिए एक प्रेरणा स्रोत है।

 

Vikrant Massey

विक्रांत मस्सी, जिनका जन्म 3 अप्रैल 1987 को हुआ था, एक भारतीय अभिनेता है जो मुंबई से हैं। उन्होंने अपनी शिक्षा आर.डी. नेशनल कॉलेज से पूरी की और फिर उन्होंने अपने करियर की शुरुआत धूम मचाओ धूम के साथ की। इसके बाद, उन्होंने धारावाहिक धरम वीर, बालिका वधु, और कुबूल है जैसे टेलीविजन सीरियल्स में काम किया।

विक्रांत मस्सी ने बॉलीवुड में एक अद्वितीय और सकारात्मक उपस्थिति बनाई है। उनका ऊचाई 1.7 मीटर है और वे अपने काम के लिए पहचान बना चुके हैं।

उनका बॉलीवुड में पहला कदम धूम मचाओ धूम से आया था, जिससे उन्होंने अपनी अभिनय की प्रवृत्ति की दिशा में मुहूर्त मिला। इसके बाद, उन्होंने कई सफल फिल्मों में काम किया है और उन्होंने अपने उदारता और प्रदर्शन से दर्शकों का दिल जीता है।

विक्रांत मस्सी का विवाह 2022 में शीतल ठाकुर के साथ हुआ था। उनके माता-पिता का नाम जॉली मस्सी और मीना मस्सी है। उनके एक भाई का नाम मोहसिन मस्सी है।

विक्रांत मस्सी ने अपनी कड़ी मेहनत, प्रतिबद्धता, और निरंतर उन्नति के साथ बॉलीवुड में अपनी एक अद्वितीय पहचान बनाई है, जो आने वाले समय में भी उजागर होने का इशारा करती है।

News Desk

निष्पक्ष NEWS.जो मुख्यतः मेन स्ट्रीम MEDIA का हिस्सा नहीं बन पाती हैं।

News Desk has 14744 posts and counting. See all posts by News Desk

Avatar Of News Desk

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

five × 1 =