राही: जीवन (life) की कठिन डगर पर तुझको आगे बढ़ते जाना…

जीवन (life) की कठिन डगर पर तुझको आगे बढ़ते जाना
बहुत दूर है जाना तुझको अब तो कदम बढ़ा जा।

Read more...

ऊंट बिलैया ले गई,सो हांजू- हांजू कइये..

Poetry: बुंदेली कवि श्री जगन्नाथ सुमन , तहसील मउरानी पुर के पास स्थित पचवारा गांव के निवासी थे। यह रचना आज के परिवेश पर बुंदेली भाषा मे एक कलात्मक व्यंग्य है।

Read more...

थक गया है हर शख़्स काम करते करते , तू इसे अमीरी का बाज़ार कहता है….

थक गया है हर शख़्स काम करते करते ।तू इसे अमीरी का बाज़ार कहता है

Read more...

शिव शब्द, शिव अर्थ, शिव ही परमार्थ है….

आप और आपके परिवार के लिए श्रावण शुभ हो।. शिव स्वर्ग, शिव मोक्ष, शिव परम साध्य है !शिव जीव, शिव बह्मा, शिव ही आराध्य है !!

Read more...

कैसा ये नववर्ष है , जिससे सूरज भी शरमाया है…

मूलतः शांत स्वभाव के दिखने वाले श्री ओम प्रकाश गुप्ता (सम्पर्क: 9907192095) एक प्रखर राष्ट्रवादी ,विद्रोही रचनाकार लेखक एवं समाज सेवक है जो समसामयिक विषयों पर अपनी तल्ख रचनाओं एवं टिप्पणियों के लिए जाने जाते हैं|

Read more...

सोए देश को जगाना होगा..

मूलतः शांत स्वभाव के दिखने वाले श्री ओम प्रकाश गुप्ता (सम्पर्क: 9907192095)  एक प्रखर राष्ट्रवादी ,विद्रोही रचनाकार लेखक एवं समाज सेवक है जो समसामयिक विषयों पर अपनी तल्ख रचनाओं एवं टिप्पणियों के लिए जाने जाते हैं| 

Read more...

अनमोल लोगों से रिश्ता रखता हूँ…

और आज कई बार बिना मुस्कुराये
ही शाम हो जाती है.

कितने दूर निकल गए
रिश्तों को निभाते निभाते,

खुद को खो दिया हम ने
अपनों को पाते पाते.

Read more...