वैश्विक

Italy: समंदर में अचानक डूब गए दो जहाज, 11 प्रवासियों की मौत हो गई, जबकि 66 अन्य लापता

Italy समुद्र में घटित दुर्भाग्यपूर्ण घटना ने एक बार फिर समुद्री सफर के खतरों को जगाया है। इस हादसे में गंभीर नुकसान हुआ है, जहाज डूब गए, और कई लोगों की जिंदगी को खतरे में डाल दिया गया। यह घटना समाज की आंधी के बीच एक चेतावनी का कार्य करती है, जो हमें समुद्री सुरक्षा की आवश्यकता को समझने के लिए मजबूर करती है।इस संघर्ष के बारे में जानकारी मिलने के बाद, हम देखते हैं कि न केवल संचार की कमी की वजह से बल्कि हमारी जिम्मेदारियों की अवहेलना के कारण यह घटना हुई है।

Italyमें उस वक्त हड़कंप मच गया, जब समंदर में अचानक दो जहाज डूब गए. जी हां, इटली के पास समुद्र में दो जहाजों के डूबने से कम से कम 11 प्रवासियों की मौत हो गई, जबकि 66 अन्य लापता हैं. आशंका जताई जा रही है कि इनकी भी मौतें हो चुकी होंगी. मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, प्रवासी नावों में कुछ खराबी आने के कुछ घंटों बाद सोमवार देर रात तक भूमध्य सागर में इटली के कोस्ट गार्ड ने खोज और बचाव अभियान जारी रखा. दक्षिणी इटली में कैलाब्रिया के तट से लगभग 120 मील (193 किमी) दूर संकट में फंसी नाव को देखकर एक मर्चेंट शिप ने सबसे पहले एसओएस कॉल किया, जिसके बाद बचाव अभियान चलाया गया.

Italy मर्चेंट शिप ने 12 लोगों को बचाया और इटली के कोस्ट गार्ड जहाज के आने तक उनकी सहायता की. कोस्ट गार्ड के अनुसार, एक महिला की जहाज से उतरने के तुरंत बाद मौत हो गई, वो बहुत बीमार थी. कोस्ट गार्ड ने एक बयान में कहा कि नाव के डूबने के बाद बचे लोगों की तलाश जारी है. कोस्ट गार्ड ने बताया कि दो इतालवी गश्ती नौकाएं और एक एटीआर42 विमान खोज में शामिल हैं और जल्द ही मेडिकल टीमों के साथ एक और गश्ती जहाज खोज अभियान में शामिल हो जाएगा। सोमवार देर शाम तक कोई और जीवित नहीं मिला.

स्थानीय मीडिया के अनुसार, जिन 66 लोगों के मरने की आशंका है, उनमें 26 नाबालिग हैं. जीवित बचे लोगों के बयान के अनुसार, यह नाव पिछले सप्ताह तुर्की से रवाना हुई थी, जिसमें इराक, सीरिया, ईरान और अफगानिस्तान से प्रवासी और शरणार्थी सवार थे. इतालवी अधिकारियों ने जांच शुरू कर दी है. नाव भूमध्य सागर के रास्ते यूरोप पहुंचने की कोशिश कर रही थी. इससे पहले एक घटना में, जर्मन सहायता समूह रेस्कशिप के साथ एक बचाव जहाज ने 10 प्रवासियों को मृत पाया था और इटली के सबसे दक्षिणी द्वीप लैम्पेडुसा से दूर माल्टा के पास संकट में फंसी एक नाव पर सवार 51 अन्य लोगों को बचाने में कामयाब रहा.

स्थानीय Italy मीडिया के अनुसार, बचे हुए लोग मुख्य रूप से बांग्लादेश, पाकिस्तान, मिस्र और सीरिया से थे. इतालवी गृह मंत्रालय ने जहाज को लैम्पेडुसा में डॉक करने का आदेश दिया था. भूमध्य सागर के माध्यम से नाव से यात्रा करने वाले प्रवासियों को मौसम की स्थिति और खराब गुणवत्ता वाले जहाजों के कारण इस तरह की खतरनाक परिस्थितियों का सामना करना पड़ता है. संयुक्त राष्ट्र के अंतरराष्ट्रीय प्रवासन संगठन के अनुसार, इस वर्ष अब तक भूमध्य सागर को पार करते हुए लगभग एक हजार लोग मारे गए हैं या लापता हो गए हैं। 2023 में 3,155 लोग लापता हो गए थे.

News-Desk

निष्पक्ष NEWS.जो मुख्यतः मेन स्ट्रीम MEDIA का हिस्सा नहीं बन पाती हैं। हमारा लक्ष्य न्यूज़ को निष्पक्षता और सटीकता से प्रस्तुत करना है, ताकि पाठकों को विश्वासनीय और सटीक समाचार मिल सके। किसी भी मुद्दे के मामले में कृपया हमें लिखें - [email protected]

News-Desk has 15667 posts and counting. See all posts by News-Desk

Avatar Of News-Desk

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ten − 1 =