उत्तर प्रदेश

Moradabad: तेज रफ्तार कार ने दो बाइकों को मारी टक्कर, आरोपी दरोगा लाइन हाजिर

Moradabad ठाकुरद्वारा-मुरादाबाद रोड पर तेज रफ्तार एक कार ने दो बाइकों में टक्कर मार दी। इसमें बाइक चला रहे छात्र वोवदवाला निवासी वरुण कुमार चौहान (19) की मौत हो गई जबकि पीछे बैठा उसका दोस्त गांव सुंदरनगर भूतखेड़ा निवासी सौरभ घायल हो गया। दूसरी बाइक पर सवार एक ग्रामीण लौंगी खुर्द निवासी तहसीन अहमद भी घायल हो गया। परिजनों का आरोप है कि वरुण एक हलका दरोगा के कारण तनाव में था।

घायल सौरभ का काशीपुर के अस्पताल तथा तहसीन अहमद का स्थानीय निजी अस्पताल में इलाज चल रहा है। ठाकुरद्वारा क्षेत्र के गांव वोवदवाला निवासी वरुण कुमार चौहान  पुत्र तेजपाल सिंह ठाकुरद्वारा नगर के कोचिंग सेंटर में पढ़ता था। सोमवार को वह अपने दोस्त गांव सुंदरनगर भूतखेड़ा निवासी सौरभ पुत्र जयपाल सिंह के  साथ किसी कार्य से मुरादाबाद रोड पर जा रहा था।

गांव मुंशीगंज के पेट्रोल पंप के पास दोपहर करीब 12 बजे सामने से आई तेज रफ्तार ईको कार ने दो बाइकों को टक्कर मारकर रौंद दिया। इसमें एक बाइक पर सवार वरुण चौहान और उसका दोस्त सौरभ गंभीर रूप से घायल हो गए। जबकि दूसरी बाइक पर सवार गांव लौंगी खुर्द निवासी तहसीन अहमद भी घायल हो गए।

तहसीन अहमद को एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया। जबकि गंभीर घायल वरुण और सौरभ को 108 एंबुलेंस से नगर के सरकारी अस्पताल में लाया गया। यहां डॉक्टर ने जांच के बाद वरुण को मृत घोषित कर दिया। जबकि सौरभ को गंभीर हालत में निजी एंबुलेंस से काशीपुर भेज दिया गया। जानकारी मिलने पर वरुण के परिजन और ग्रामीण अस्पताल में आ गए।

उन्होंने अस्पताल में आरोपी कार चालक की गिरफ्तारी की मांग को लेकर हंगामा शुरू कर दिया। यहां पुलिस से उनकी जमकर नोकझोंक हुई। मृतक के परिजन कोतवाली में तैनात एक दरोगा और कांस्टेबल को लेकर भारी गुस्से में थे। वह कार चालक को अस्पताल में हाजिर करने की मांग कर रहे थे।

मांग पूरी न होने पर परिजन और ग्रामीणों ने पहले स्योहारा-सुरजननगर मार्ग पर बाबू रामपाल द्वार और कमलापुरी चौराहे पर जाम लगाया। फिर शव को लेकर ठाकुरद्वारा-मुरादाबाद हाईवे पर नगर के तिकोनिया बस स्टैंड पर पहुंचे और शव को बीच सड़क पर रखकर जाम लगा दिया।

करीब तीन घंटे तक ग्रामीणों ने स्योहारा और ठाकुरद्वारा मुरादाबाद हाईवे को जाम किया। इस दौरान परिजनों और ग्रामीणों की पुलिस से कई बार नोकझोंक हुई। ग्रामीणों ने मांग पूरी हुए बिना जाम खोलने से इन्कार कर दिया। प्रभारी निरीक्षक बिजेंद्र सिंह ने कहा कि वह जाम खोल दें।

कार चालक पुलिस के कब्जे में है लेकिन ग्रामीण नहीं माने। जानकारी होने पर क्षेत्र के पूर्व सांसद कुंवर सर्वेश सिंह जाम स्थल पर पहुंचे। उन्होंने ग्रामीण से वार्ता की। पुलिस को ग्रामीणों की मांग पूरी करने के निर्देश दिए। पुलिस ने उनकी मांगों पर कार्रवाई का आश्वासन दिया। इस पर ग्रामीणों ने जाम खोल दिया। करीब तीन घंटे तक जाम में सैकड़ों वाहन फंसे रहे। लोगों को भारी परेशानी हुई।

क्षेत्र के गांव वोवदवाला निवासी छात्र वरुण चौहान की मौत के लिए उसके पिता तेजपाल सिंह ने एक दरोगा को जिम्मेदार ठहराया। उन्होंने पूर्व सांसद कुंवर सर्वेश सिंह के सामने रोते हुए बताया कि करीब 15 दिन पूर्व दरोगा संदीप मलिक ने उनके पुत्र पर  झूठा आरोप लगाकर उत्पीड़न किया।

जिस पर उसके पुत्र वरुण की झूठे आरोप को लेकर दरोगा से काफी नोकझोंक और मारपीट भी हुई थी। मारपीट में दरोगा का वर्दी एक बिल्ला टूटकर गिर गया था। जो उनके पास सबूत के तौर पर मौजूद है।  आरोप है कि मामले को निपटाने के  लिए दरोगा ने उनसे तीन लाख रुपये लिए थे।

जिससे इस घटना के बाद उनका पुत्र  वरुण तनाव में रहता था। तनाव के चलते ही उसके पुत्र की मौत हुई। इसके लिए दरोगा और एक कांस्टेबल जिम्मेदार है। उन्होंने पूर्व सांसद से आरोपी दरोगा, एक कांस्टेबल के खिलाफ कार्रवाई की मांग की।

 

News Desk

निष्पक्ष NEWS.जो मुख्यतः मेन स्ट्रीम MEDIA का हिस्सा नहीं बन पाती हैं।

News Desk has 15254 posts and counting. See all posts by News Desk

Avatar Of News Desk

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

five × 2 =