संपादकीय विशेष

Muzaffarnagar: मूसलाधार बारिश से शहर में हर तरफ भरा पानी

मुजफ्फरनगर। (Muzaffarnagar)। । रात से हो रही मूसलाधार बारिश के चलते शहर-गांव की सड़क और खेत-खलियान पानी से लबालब हो गए हैं। तेज बारिश के कारण न्यूनतम तापमान में गिरावट दर्ज की गई। वातावरण में आद्रता का स्तर भी ऊंचाई पर रहा। जल भराव से लोगों को दिक्कत हुई। लेकिन किसानों के चेहरे खिल गए।

मुजफ्फरनगर में देर रात से मूसलाधार बारिश जारी है। तेज बारिश के चलते शहर और देहात की गलियों में पानी भरा है। निकासी अवरुद्ध होने से लोगों को दिक्कत का सामना करना पड़ रहा है। मौसम विभाग के आंकड़ों के अनुसार देर रात से बुधवार सुबह तक जिले में ९१.४ मिली मीटर बारिश दर्ज की गई। सुबह के दौरान न्यूनतम तापमान २५.५ डिग्री सेल्सियस रहा।

बुधवार को न्यूनतम तापमान में मंगलवार के मुकाबले २ डिग्री की कमी देखी गई। तापमान में गिरावट आने से लोगों को राहत महसूस हुई। बुधवार सुबह वातावरण की आर्द्रता ९८प्रतिशत रही। लगातार हो रही बारिश खेतों में खड़ी धान और गन्ने की फसल के लिए वरदान साबित हो सकती है। मौसम विभाग के विशेषज्ञ केशव कुमार का कहना है कि बारिश से फसलों को लाभ पहुंचेगा। हालांकि नमी से मक्का की फसल को नुकसान हो सकता है। उन्होंने बताया कि मक्का की फसल पक रही है। आशंका जताई कि ऐसे में नमी के चलते फंगस का हमला उस पर हो सकता है।

रात से हो रही मूसलाधार बारिश को देखते हुए जिला प्रशासन ने अलर्ट जारी किया है। आपदा कंट्रोल रूम की ओर से बारिश के कारण किसी भी परेशानी पर संबंधित तहसील के एसडीएम को सूचना देने के लिए फोन नंबर ९४१२२१००८० पर कहा गया है। इसके लिए एसडीम के फोन नंबर जारी किए गए हैं।

मुजफ्फरनगर में अगस्त माह के दौरान अब तक छह बार बारिश हुई है। सरकारी आंकड़ों के अनुसार इस मा १२९.६एमए बारिश हो चुकी है। पिछले कई दिनों से भीषण गर्मी झेल रहे जनपद के लोगों को गत दिवस रात्रि से हो रही बारिश से राहत मिली। झमाझम हुई बरसात से हर ओर पानी ही पानी नजर आने लगा। शहर की सड़के तालाब के रूप में परिवर्तित हो गयीं शिवचौक पर घुटनो तक पानी भर गया साथ ही नीचली बस्तियों में पानी बुरी तरह से भर गया। कई घरों में अंदर भी पानी घुस गया। जिससे लोगों को भारी परेशानी का सामना करना पडा वहीं दूसरी ओर तेज बारिश से गर्मी से राहत मिली।

बारिश के इस जोरदार असर से शहर की गलियों और बाजारों में जलभराव ने लोगों को परेशान किया, वहीं शहर के निचले इलाके और मलिन बस्तियां भी जलमग्न हो गयी। शहर में नाले और सीवर ओवर फ्लो होकर सड़कों पर बहते दिखाई दिये। वहींं पानी भरने के कारण अनेक वाहन बंद हो गये और वाहन स्वामी उन्हे खीचकर ले जाने को मजबूर हो गये। शाम के समय अचानक ही तेज बारिश शुरू हो जाने से मौसम पूरी तरह से बदलता नजर आया। मानूसनी झमाझम बरसात ने लोगों को राहत देने के साथ ही मौसम में ठण्डक पैदा करने का काम किया। यह बारिश जितना लोगों के लिए राहत बनकर आई

वहीं कुछ क्षेत्रों में बारिश के कारण लोगों को परेशानी का सामना भी करना पड़ा। जिले के कई क्षेत्रों में भारी बारिश के कारण जलभराव हो गया। कई इलाके पूरी तरह से तालाब में परिवर्तित हो जाने से वहां पर मकानों को भी इस जलभराव के कारण खतरा नजर आया। कई क्षेत्रों में तो लोगों के घरों के अन्दर बारिश भर जाने से काफी सामान भी खराब हो गया। लोगों को बारिश के बीच ही घरों का पानी निकालने के लिए मेहनत करनी पड़ी। शहर में भी हाल बेहाल नजर आया। शहर का हृदय स्थल शिव चौक पूरी तरह से जलमग्न रहा।

यहां पर आवागमन भी बाधित हो गया। लोगों को घुटनों घुटनो जलभराव के बीच से ही होकर गुजरना पड़ा। कई दुकानों में भी पानी भर जाने से व्यापारी परेशान नजर आये। कई दुकानों में भी जलभराव दिखाई दिया। वहीं शहर के निचले इलकों जनकपुरी, कृष्णापुरी, लददावाला, रामपुरी, खालापार, मल्हुपुरा, महमूदनगर आदि के साथ ही पॉश कालौनियों नई मण्डी, द्वारिकापुरी, पटेलनगर, गांधी कालौनी की गलियां भी जलभराव की चपेट में रही।

वहीं बारिश से लोगों को राहत के साथ परेशानी अधिक दिखाई दी।सड़कों पर पानी भरा होने के कारण वाहन स्वामी बेहद ही सम्भलकर चल रहे थे जिसके साथ ही वाहनों में पानी भी भरने के साथ अनेक वाहन बंद हुए और वाहन को खींचकर ले जाना पडा।

 

Dr. S.K. Agarwal

डॉ. एस.के. अग्रवाल न्यूज नेटवर्क के मैनेजिंग एडिटर हैं। वह मीडिया योजना, समाचार प्रचार और समन्वय सहित समग्र प्रबंधन के लिए जिम्मेदार है। उन्हें मीडिया, पत्रकारिता और इवेंट-मीडिया प्रबंधन के क्षेत्र में लगभग 3.5 दशकों से अधिक का व्यापक अनुभव है। वह राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कई प्रतिष्ठित समाचार पत्रों, चैनलों और पत्रिकाओं से जुड़े हुए हैं। संपर्क ई.मेल- [email protected]

Dr. S.K. Agarwal has 302 posts and counting. See all posts by Dr. S.K. Agarwal

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

18 − fourteen =