नाक की फुंसियां: उपचार……

नाक के अन्दर कई प्रकार की छोटी-छोटी फुंसिया होकर जलन पैदा करती है जिसकी वजह से नाक के अन्दर सूजन और दर्द है।

उपचार :

1. अजवायन: अजवायन के काढ़े या अजवायन के रस से फुंसियों को अच्छी तरह से साफ करने से नाक की फुंसियां ठीक हो जाती है।

2. कायफल: कायफल को पकाकर बने हुए तेल को फुंसियों पर लगाने से आराम आता है।

3. हरीतकी: हरीतकी को पानी के साथ पीसकर उसमें शहद मिलाकर फुंसियों पर लेप करने से नाक की फुंसियां ठीक हो जाती है।

4. कमीला: कबीला (कमीला) को तेल में मिलाकर नाक की फुंसियों पर लगाने से लाभ होता है।

5. कायफल: कायफल के काढ़े से नाक की फुंसियों को अच्छी तरह से साफ करने से नाक की फुंसियों में आराम आता है।

6. सत्यानाशी: सत्यानाशी (पीला धतूरा) के पीले दूध को घृत (घी) में मिलाकर नाक की फुंसियों पर लगाने से आराम आ जाता है।

7. तिल: तिल के तेल में पत्थरचूर के पत्तों के रस को मिलाकर नाक की फुंसियों पर लगाने से नाक की फुंसियां ठीक हो जाती है।

8. चंदन: चंदन के तेल को उससे 2 गुना सरसो के तेल में मिलाकर लगाने से नाक की फुंसियां ठीक हो जाती है।

9. दारूहल्दी: दारूहल्दी की जड़ के काढ़े से फुंसियों को साफ करने से नाक की फुंसियां ठीक हो जाती है।

10. डिकामाली: पानी में डिकामाली (नाड़ी हिंगु) को मिलाकर फुंसियों को धोने से और लगाने से नाक की फुंसियां ठीक हो जाती है।

 

डॉ0ज्योति ओमप्रकाश गुप्ता प्रसिद्ध चिकित्सक और इस सेक्शन की लेखक, वरिष्ठ संपादक हैं, प्राकृतिक एवं घरेलु चिकित्सा को सरल एवं जन-जन की भाषा में पहुँचाने के लिए प्रयासरत हैं। उनसे नम्बर 93993 41299 पर सीधे सम्पर्क किया जा सकता हैं और दवांइयाँ/सामग्री के लिए जानकारी ली जा सकती हैं।

 

News Desk

निष्पक्ष NEWS,जो मुख्यतः मेन स्ट्रीम MEDIA का हिस्सा नहीं बन पाती हैं।

News Desk has 6130 posts and counting. See all posts by News Desk

Avatar Of News Desk

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

six − two =