Religious

नवंबर 2019-होगा 5 मुख्य ग्रहों का स्थान परिवर्तन

नवंबर माह ने दस्तक दे दी है। ऐसे में इस माह का विश्लेषण कहता है कि ये महीना खास कुछ राशियों के जातकों के लिए बेहद अहम रहने वाला है। इन राशियों को इस माह कई बड़ी सौगात मिलने की उम्मीद है क्योंकि इस माह 5 मुख्य ग्रहों का गोचर होने से इन राशियों पर इसका बेहद शुभ प्रभाव देखने को मिलेगा। इस माह कई सुन्दर योग का निर्माण भी होने वाला है। वहीं ज्योतिषीय नज़रिये से देखें तो उसके अनुसार भी ये माह बेहद महत्वपूर्ण रहने वाला है, क्योंकि नवंबर के महीने में कई बड़े पर्व पड़ रहे हैं। नवंबर माह में प्रकृति में कई तरह के परिवर्तन भी नज़र आने वाले हैं।

ग्रहों का होगा बड़ा फेर बदल

राशियों की बात करें तो वहीं गुरु बृहस्पति भी इस माह वृश्चिक राशि से धनु राशि में प्रवेश कर जाएंगे। इस माह धनु राशि में शुक्र ग्रह का प्रभाव देखने को मिलेगा, जिस कारण इस राशि के जातक अपने सभी प्रकार के भौतिक सुखों का आनंद उठा पाएंगे। यह स्थिति धनु राशि के जातको के लिए बेहद अहम साबित होगी। नवंबर माह का दूसरा मुख्य परिवर्तन मंगल के तुला राशि को प्रभावित करने के साथ ही आरंभ होगा, जिसके साथ ही इस राशि के जातकों के लिए भी इस माह कई तरह के बदलाव आने वाले हैं। इसके साथ ही जहाँ सूर्य देव वृश्चिक राशि में अपना स्थान परिवर्तन करे। इसके अलावा वक्री बुध देव भी वृश्चिक राशि से तुला राशि में गोचर करेंगे।

नवंबर हिन्दू कैलेंडर में पड़ने वाले पर्व

धार्मिक दृष्टि से इस माह की शुरुआत में शनिवार, 2 नवंबर को छठ पूजा, 8 नवंबर, शुक्रवार को देवुत्थान एकादशी, 9 नवंबर, शनिवार को प्रदोष व्रत (शुक्ल), 12 नवंबर, मंगलवार को कार्तिक पूर्णिमा व्रत, 16 नवंबर, शनिवार को संकष्टी चतुर्थी, 17 नवंबर, रविवार को वृश्चिक संक्रांति, 22 नवंबर, शुक्रवार को उत्पन्ना एकादशी, 24 नवंबर, रविवार को प्रदोष व्रत (कृष्ण), 25 नवंबर, सोमवार को मासिक शिवरात्रि और 26 नवंबर, मंगलवार को मार्गशीर्ष अमावस्या मनाई जाएंगी। इसके अतिरिक्त इस माह कई अन्य शुभ और सिद्ध योग व मुहूर्त का निर्माण भी होगा। ऐसे में इन दिनों व्रत-दान-पुण्य में लोगों का रुझान बरकरार रहेगा।

नवंबर माह की गोचरीय स्थिति से संचार माध्यम होंगे प्रभावित

शुरूआती समय में ही मंगल और वक्री बुध के एक ही राशि तुला में आने से देश भर में संचार माध्यमों का अधिक दुरुपयोग होगा। जिससे देश की छवि को भी नुक्सान पहुंच सकता है। इस गोचर से सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म का लोग अपने फ़ायदे के लिए गलत प्रयोग करेंगे, जिससे तनाव की स्थितियाँ भी बीच-बीच में उभर सकती हैं। इसके साथ ही त्वचा संबंधी रोग भी इस समय लोगों को परेशान करेंगे।

देश के लिए कैसा रहने वाला है ये माह

इस माह देश की विदेश नीतियों में बड़े परिवर्तन साफ़ देखने को मिलेंगे, लेकिन ये परिवर्तन बेहद सकारात्मक होंगे जिससे विश्व में भारत का स्थान भी मजबूत होगा।

किन क्षेत्रों के लिए प्रभावी होगा नवंबर का महीना

इस माह बृहस्पति और शुक्र के धनु राशि में एक साथ युति करने से उच्च पद के अधिकारियों के बीच जवाबी जंग बढ़ेगी। राजनीतिक हस्तियों में इस दौरान मतभेद की स्थिति बनी रहेगी। कई छोटे-बड़े क़ानूनी मामलों में कई बदलाव आएँगे जिसमें कोई बड़ा फैसला भी आने की उम्मीद होगी।

बृहस्पति गोचर का समय

इसके साथ ही इस माह के शुरूआती सप्ताह में बृहस्पति ग्रह 5 नवंबर 2019, मंगलवार 00:03 बजे अपनी राशि धनु में गोचर करेगा और 29 मार्च 2020, रविवार रात्रि 19:08 बजे तक इसी राशि में स्थित रहेगा। गुरु बृहस्पति के इस राशि परिवर्तन का प्रभाव सभी राशियों पर होगा।

बुध देव गोचर

बुध देव भी 7 नवंबर 2019, गुरूवार को मंगल की राशि वृश्चिक से अपनी वक्री गति करते हुए शुक्र की तुला राशि में पुनः प्रवेश कर जाएंगे और इसके प्रभाव से सभी प्रकार के कम्युनिकेशन, एजुकेशन आदि से जुड़े क्षेत्रों के शेयरों में अच्छा-ख़ासा उछाल देखने को मिलेगा

मंगल गोचर का समय

वैवाहिक और दाम्पत्य जीवन का कारक मंगल ग्रह अब 10 नवंबर 2019, रविवार को दोपहर 13:31 बजे तुला राशि में गोचर करेगा और 25 दिसंबर 2019, बुधवार की रात्रि 20:26 बजे तक इसी राशि में स्थित रहेगा। मंगल के तुला राशि में गोचर से मंगल कार्य होने की संभावना है।

सूर्य देव करेंगे वृश्चिक में गोचर

17 नवंबर 2019, रविवार को सूर्य देव शुक्र की राशि तुला को छोड़कर मंगल की राशि वृश्चिक में गोचर करेंगे, जिससे माह के मध्य में यानि 17 नवंबर को सूर्य का वहां पहले से ही मौजूद शुक्र ग्रह से मेल होगा और इस योग के प्रभाव से देशभर में सकारात्मक परिणाम देखने को मिलेंगे।

बुध देव मार्गी

बुध 20 नवम्बर 2019 को तुला राशि में 24:38 मार्गी

शुक्र देव भी करेंगे स्थान परिवर्तन

इस माह 21 नवंबर 2019, गुरूवार को शुक्र ग्रह का भी मंगल की राशि वृश्चिक से गुरु बृहस्पति की राशि धनु में गोचर हो रहा है। जिसके प्रभाव से विदेशी नीतियों में बदलाव और विश्व के कई बड़े मुल्कों का सहयोग भारत को मिलने की उम्मीद है

News-Desk

निष्पक्ष NEWS.जो मुख्यतः मेन स्ट्रीम MEDIA का हिस्सा नहीं बन पाती हैं। हमारा लक्ष्य न्यूज़ को निष्पक्षता और सटीकता से प्रस्तुत करना है, ताकि पाठकों को विश्वासनीय और सटीक समाचार मिल सके। किसी भी मुद्दे के मामले में कृपया हमें लिखें - [email protected]

News-Desk has 15667 posts and counting. See all posts by News-Desk

Avatar Of News-Desk