Feature

Yes Bank को ₹48000 करोड़ के NPA की बिक्री से मिले ₹150 करोड़

साल के पहले कारोबारी दिन में, Yes Bank के शेयरों में तेजी देखने को मिली है। रविवार को बैंक ने एक्सचेंज फाइलिंग में बताया कि ₹48,000 करोड़ के NPA की बिक्री से बैंक को ₹150 करोड़ रुपये मिले हैं। बैंक ने 17 दिसंबर को जेसी फ्लावर्स एआरसी को एनपीए पोर्टफोलियो की बिक्री की थी। इसके परंतु, इस खबर के बाद, बैंक के शेयर में उछल पड़ा। सुबह, Yes Bank के शेयर 21.50 रुपये पर खुला था, जो दिनभर के कारोबार में अपने 52 सप्ताह के उच्चतम दर के आसपास पहुंचा। दोपहर में, कंपनी के शेयर 5.83 प्रतिशत बढ़कर 22.70 पर कारोबार कर रहे थे। निवेशकों को पिछले पांच दिनों में लगभग 7.58 प्रतिशत की तेजी और पिछले छह महीनों में 38.84 प्रतिशत की तेजी दिखाई दी है।

JC Flowers ARC का गठन साल 2015 मई में हुआ था, जिसने नवंबर 2022 में Yes Bank में 9.9 प्रतिशत इक्विटी हिस्सेदारी खरीदी थी, परंतु बाद में इसमें कमी हो गई और यह 5.01 प्रतिशत पर आ गई। अक्टूबर 2023 में फिर से यस बैंक ने कंपनी में अतिरिक्त 2.4 करोड़ का निवेश किया और इससे बैंक की कंपनी में हिस्सेदारी 9.9 प्रतिशत बढ़ गई। Yes Bank अपने एनपीए एसेट्स को बेचकर घाटे को कम करने की कोशिश कर रहा है, जिसका परिणामस्वरूप बीएसई पर हुए व्यापक खरीद-बिक्री में सोमवार को कुल 2.40 करोड़ शेयरों का व्यापक कारोबार हुआ, जिसका कुल मूल्य 52.93 करोड़ रुपये था। इसी दौरान, नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE) पर निजी ऋणदाता के पास लगभग 13.20 करोड़ शेयर थे, जिनका मूल्य 290.60 करोड़ रुपये था।

CNBC के अनुसार, शेयर का चार्ट ₹21 पर आधारित है। यदि शेयर ₹29 तक पहुंचता है, तो शेयर बॉटमआउट हो सकता है, जबकि ₹100 तक का लक्ष्य संभावित है, लेकिन इसे प्राप्त करने में 4-5 साल का समय लग सकता है। प्रॉफिटमार्ट सिक्योरिटीज के शोध प्रमुख अविनाश गोरक्षकर ने बताया कि बैंक के शेयरों में बढ़ोत्तरी हुई है, क्योंकि खराब ऋण बिक्री के बाद एकल ट्रस्ट से ₹150 करोड़ प्राप्त करने की घोषणा के बाद बाजार में तेजी आई है। बाजार का आशा है कि बैंक की रिकवरी में वृद्धि होगी। चॉइस ब्रोकिंग के कार्यकारी निदेशक सुमीत बगाड़िया ने यस बैंक के शेयरों के चार्ट पैटर्न को सकारात्मक बताया है और यह जल्द ही ₹26 प्रति शेयर तक पहुंच सकता है, जब यह ₹22 से ऊपर बंद हो जाएगा। इसलिए, जिनके पास यस बैंक के शेयर हैं, उन्हें ₹19 पर स्टॉप लॉस बनाए रखते हुए शेयर को आगे बनाए रखने की सिफारिश की जा रही है।

Yes Bank एक भारतीय निजी सेक्टर का बैंक है, जिसे 2004 में राणा कपूर और आशीष धाना ने स्थापित किया था। यह बैंक विभिन्न वित्तीय सेवाएं प्रदान करता है, जैसे कि बैंकिंग, वित्तीय बाजार, और बीमा। इसका मुख्यालय मुंबई, महाराष्ट्र में है और यह भारतीय बैंकिंग से जुड़ी विभिन्न सेवाओं के लिए एक प्रमुख नाम माना जाता है।

हाल के समय में, Yes Bank ने विभिन्न आर्थिक चुनौतियों का सामना किया है, जिससे इसकी वित्तीय स्थिति में कमी आई थी। इसके शेयरों में गिरावट और NPA (गिरावटी खाता) के मुद्दों के कारण, बैंक ने कई सुधार के पथ पर कदम बढ़ाया है। इसके बावजूद, हाल ही में हुई NPA की बिक्री ने बैंक को आर्थिक सुधार में सहारा प्रदान किया है और इसने बाजार में अपने शेयरों की मूल्य में बढ़ोत्तरी को प्रेरित किया है।

Yes Bank ने अपने शेयरों की बाजार में वापसी के लिए योजनाएं बनाई हैं और निवेशकों को आत्मनिर्भर बनाने के लिए सकारात्मक संकेत दिए हैं। बैंक का प्रबंधन ने वित्तीय स्थिति को मजबूत करने के लिए कठिनाईयों का सामना किया है और निर्धारित रूप से बैंक को स्थिरता और विश्वासप्रद स्थिति में लाने के लिए कदम उठाए हैं।

Yes Bank के समर्पित कर्मचारी और प्रबंधन द्वारा की जाने वाली उद्यमी उपायों के माध्यम से, बैंक ने अपने ग्राहकों को सुरक्षित और अच्छी सेवाएं प्रदान करने का प्रतिबद्धता दिखाई है। इसके साथ ही, बैंक ने नई तकनीकी उपायों का उपयोग करके डिजिटल बैंकिंग और वित्तीय सेवाओं में सुधार करने का प्रयास किया है।

अगम्य समय में, Yes Bank का मुख्य लक्ष्य अपने ग्राहकों को वित्तीय सुरक्षा और विश्वासप्रद सेवाएं प्रदान करना है, ताकि वह अपनी आर्थिक आदम्बर को मजबूत कर सकें और उच्चतम स्तर की संतुष्टि प्राप्त कर सकें।

News-Desk

निष्पक्ष NEWS.जो मुख्यतः मेन स्ट्रीम MEDIA का हिस्सा नहीं बन पाती हैं। हमारा लक्ष्य न्यूज़ को निष्पक्षता और सटीकता से प्रस्तुत करना है, ताकि पाठकों को विश्वासनीय और सटीक समाचार मिल सके। किसी भी मुद्दे के मामले में कृपया हमें लिखें - [email protected]

News-Desk has 15514 posts and counting. See all posts by News-Desk

Avatar Of News-Desk

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

eighteen + 9 =