Nuclear weapons का आधुनिकीकरण करना जारी रखेगा China

China अपने परमाणु हथियारों Nuclear weapons का आधुनिकीकरण करना जारी रखेगा. चीन ने मंगलवार को कहा कि वह अपने परमाणु शस्त्रागार का आधुनिकीकरण (Modernise) करते रहेगा. साथ ही अमेरिका और रूस से अपने परमाणु हथियारों Nuclear weapons के भंडार को कम करने का आह्वान किया. चीनी विदेश मंत्रालय में हथियार नियंत्रण विभाग के महानिदेशक फू कांग (Fu Cong) ने कहा कि चीन विश्वसनीयता और सुरक्षा के मुद्दों के लिए अपने परमाणु शस्त्रागार का आधुनिकीकरण करना जारी रखेगा. 

अमेरिका, चीन, फ्रांस, रूस, ब्रिटेन के नेताओं ने पहली बार सोमवार को परमाणु युद्ध छिड़ने से रोकने और हथियारों की दौड़ से बचने पर एक संयुक्त बयान जारी किया था. और साथ ही एक-दूसरे पर परमाणु हथियारों के इस्तेमाल न करने का संकल्प भी लिया. पांच देशों के नेताओं ने संयुक्त बयान में कहा था कि वे मानते हैं कि परमाणु हथियारों से संपन्न देशों के बीच युद्ध से बचना और सामरिक खतरे कम करना उनकी सर्वोच्च प्राथमिकता है.

परमाणु युद्ध में कभी जीत नहीं हो सकती

वैश्विक शक्तियों का मानना है कि परमाणु युद्ध में कभी जीत नहीं हो सकती है और इसे कभी नहीं लड़ना चाहिए. संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (UNSC) के स्थायी सदस्य पांच देशों ने कहा कि उनका दृढ़ता से मानना है कि ऐसे हथियारों का प्रसार रोका जाना चाहिए.

अब China ने एक बार फिर से परमाणु हथियारों की दौड़ को हवा दी है और परमाणु हथियारों को आधुनिक बनाने की योजना को जारी रखने की बात कही है. इससे वैश्विक स्तर पर मतभेद गहरा सकते हैं.

कई मीडिया रिपोर्ट्स में ये दावा किया जाता रहा है कि china काफी तेजी से अपनी परमाणु क्षमता में विस्‍तार और विकास कर रहा है और उसकी योजना शायद अमेरिका से भी आगे निकलने की है.

मॉस्को और पश्चिमी देशों के बीच बढ़ते भू-राजनीतिक तनाव के बीच यह बयान आया है. पांचों देशों के साझा बयान में कहा गया है कि हम इस बात की दावा करते हैं कि परमाणु युद्ध नहीं जीता जा सकता है और इसे कभी नहीं लड़ा जाना चाहिए. पांच परमाणु शक्तियों के साझा बयान के अनुसार, चीन, रूस, ब्रिटेन, संयुक्त राज्य अमेरिका और फ्रांस ने सहमति व्यक्त की है कि परमाणु हथियारों के और प्रसार और परमाणु युद्ध से बचा जाना चाहिए.

फ्रांस ने भी बयान जारी किया, जिसमें कहा गया कि पांचों शक्तियों ने परमाणु हथियार नियंत्रण और निरस्त्रीकरण के लिए अपने दृढ़ संकल्प को दोहराया है. परमाणु हथियार नियंत्रण के लिए द्विपक्षीय और बहुपक्षीय दृष्टिकोण जारी रखेंगे. पड़ोसी देश यूक्रेन के पास रूस के सैन्य निर्माण को लेकर चिंताओं के बीच ये बयान जारी किया गया है. रूस का मानना है कि वह अपनी सेना को अपने क्षेत्र के चारों ओर ले जा सकता है जैसा कि वह जरुरत समझता है.

News Desk

निष्पक्ष NEWS.जो मुख्यतः मेन स्ट्रीम MEDIA का हिस्सा नहीं बन पाती हैं।

News Desk has 7005 posts and counting. See all posts by News Desk

Avatar Of News Desk

Leave a Reply

Your email address will not be published.

12 + 19 =