Author: Sanjay Pande (Advocate)

दिल से

Pune:कला और अभिव्यक्ति की आजादी पर हो रहे हमलों की जलेस द्वारा निंदा, कड़ी कारवाई की मांग

Pune विश्वविद्यालय के प्रशासन ने हंगामा करनेवालों का पक्ष लेते हुए अपने बयान में न सिर्फ़ भावनाएं आहत होने के संबंध में क्षमा-याचना की बल्कि ‘किसी मिथकीय या ऐतिहासिक व्यक्ति की पैरोडी’ को ‘पूरी तरह से ग़लत और प्रतिबंधित’ बताया। उसके बाद 6 फरवरी को हुई विश्वविद्यालय की प्रबंधन परिषद की बैठक की शुरुआत अनेक सदस्यों द्वारा ‘जय श्रीराम’ के नारे के साथ हुई।

Read more...
दिल से

Maharashtra-राहुरी के वकील दम्पति हत्याकांड की कड़ी निंदा-शवों को पत्थरों से बांधकर फेंक दिया था कुएं में

वकीलों के राष्ट्रीय संगठन ऑल इंडिया लॉयर्स यूनियन ने सभी आरोपियों की गिरफ्तारी, मामले में विशेष लोक अभियोजक की नियुक्ति और फास्ट-ट्रैक अदालतों के माध्यम से त्वरित सजा की मांग की है। इस दुर्भाग्यपूर्ण घटना के बाद एआईएलयू फिर से Maharashtra में एडवोकेट प्रोटेक्शन एक्ट (अधिवक्ता संरक्षण कानून) लागू करने की मांग कर रहा है।

Read more...
दिल से

22 जनवरी को राम मंदिर, अयोध्या के धार्मिक उत्सव पर अदालतों को बंद करने की घोषणा करने की मांग का AILU द्वारा विरोध

ऑल इंडिया लॉयर्स यूनियन (AILU) का मानना है कि, राम मंदिर, अयोध्या या किसी अन्य मंदिर में ‘प्राणप्रतिष्ठा’ केवल एक धार्मिक कार्य है, न कि सरकार का काम जिस तरह से वर्तमान केंद्र सरकार माहौल बना रखा है। उस दिन कोई धार्मिक त्यौहार भी नहीं है। लेकिन चुनाव में फायदा लेने के लिए देश में सांप्रदायिक ध्रुवीकरण किया जा रहा है.

Read more...
वैश्विक

Mumbai: बेहतर न्यायिक व्यवस्था के लिए संघर्ष के संकल्प के साथ तीसरा ऑल इंडिया लॉयर्स यूनियन अधिवेशन संपन्न

Mumbai सचिव ने प्रतिनिधि सत्र का उत्तर दिया जहां रिपोर्ट पर चर्चा की गई। इसके बाद सचिव की रिपोर्ट को सर्वसम्मति से मंजूरी दे दी गयी. साथ ही उच्चन्यायालय का कामकाज अंग्रेजी के साथ-साथ मराठी में भी हो, इसके लिए संगठन ने आगे संघर्ष करने की घोषणा की. अगले तीन वर्षों के लिए 21 सदस्यों का एक नया राज्य समिति पदाधिकारी और कार्यकारी बोर्ड चुना गया।

Read more...
Feature

शहरी क्षेत्रों में कबूतरों (Pigeons) की अनियंत्रित वृद्धि- अप्राकृतिक और परेशानियाँ बढ़ाने वाली?

जितने ज्यादा कबूतर (Pigeons), संक्रमण और इन छोटे छोटे कीड़ों के घर में आने का खतरा उतना ही अधिक होता है। कबूतर भी घुन, पिस्सू और वेस्ट नाइल वायरस के वाहक होते हैं, जो सभी मनुष्यों में असुविधा और संभावित गंभीर स्वास्थ्य समस्याओं का कारण बन सकते हैं।कबूतरों से 60 से अधिक किस्मों की रोगजनक करक (pathogens) होते हैं जो कई बीमारियों को फैलाते हैं

Read more...