दिल से

बुखार, सूखी खांसी, सांस में दिक्कत होने पर खुद को परिवार से अलग कर लें-आरती नंदनवार

मुजफ्फरनगर। कोरोना संक्रमण ने कहर मचा रखा है। यह संक्रमण, संक्रमित सतह, दरवाजा, वाहन को छूने, एक से दूसरे व्यक्ति में तेजी से फैल रहा है। कोरोना की दूसरी लहर पहले से ज्यादा लोगों को प्रभावित कर रही है। इसे मात देने के लिए लॉकडाउन में बने नियमों का कड़ाई से खुद पालन करना, डबल मास्क लगाना और शारीरिक दूरी बनाने की अधिक जरूरत है।

वहीं, कोविड होने पर रोग प्रतिरोधक क्षमता मजबूत करने पर भी ध्यान देने की जरूरत है। कुछ भी समस्या होने पर चिकित्सक की राय भी घर बैठे जरूर लें।

जिला अस्पताल में तैनात एमबीबीएस चिकित्सक डा. आरती नंदनवार का कहना है कि घर व बाहर, आपस में शारीरिक दूरी बनाए रखना, मुंह पर डबल मास्क रखना ही काफी नहीं, मास्क को एंटीसैप्टिक गर्म पानी में भिगोने, बाहर से लौटने पर सभी कपड़ों व सामान आदि को सैनिटाइज करने की अधिक जरूरत है।

उनका कहना है कि कोरोना संक्रमण में फेफड़े खराब हो जाते हैं, जिससे सांस लेने में परेशानी होती है। ऐसे में बुखार, सूखी खांसी, सांस में दिक्कत होने पर खुद को परिवार से अलग कर लें।

अस्पताल और चिकित्सक सीमित हैं, इसका ध्यान रख स्वयं का बचाव पहले से कर के रखें। इस समय चल रही स्थिति में कोरोना से बचने को लाकडाउन का पूरा पालन करें। शारीरिक दूरी बनाकर ही एक-दूसरे से अधिक आवश्यकता पड़ने पर मिलें। नोटों के आदान-प्रदान में सतर्कता बरतें।

हाथों को बार-बार २० सेकेंड तक धोएं, मुंह पर हाथ न लगाएं। गंभीर रोगी ही अस्पताल जाएं। सामान्य मरीज फोन पर चिकित्सक की सलाह लें। इन नियमों का पालन करने से ही कोरोना से बचा जा सकता है। ठंडे पानी से परहेज कर लें और गर्म पानी दिन में कई बार पीया जाए।

News Desk

निष्पक्ष NEWS,जो मुख्यतः मेन स्ट्रीम MEDIA का हिस्सा नहीं बन पाती हैं।

News Desk has 6029 posts and counting. See all posts by News Desk

Avatar Of News Desk

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

7 − six =