Sultanpur News: बैंक शाखा प्रबंधक की मनमानी से नहीं हो सका इलाज, 80 साल की वृद्धा की बैंक में मौत

Sultanpur News: सेमरी बाजार में स्थित बड़ौदा उत्तर प्रदेश ग्रामीण बैंक की शाखा सेमरी महमूदपुर मैं ठंड और बारिश के बीच बैंक के बाहर 80 साल की वृद्धा छाता लगाए ठेले पर पड़ी रही। उसके परिवारीजन विधवा पेंशन निकलवाने के लिए उसे लेकर बैंक पहुंचे थे। पैसे मिल जाते तो उसी से उसका इलाज होना था। लेकिन मैनेजर ऐसा पत्थर दिल जिसकी मानवीय संवेदनाएं मुर्दा हो चुकी थी। इसका नतीजा यह हुआ कि आज इलाज के अभाव में वृद्धा की मौत हो गई।

घटना जयसिंहपुर तहसील क्षेत्र के सेमरी बाजार में स्थित बड़ौदा उत्तर प्रदेश ग्रामीण बैंक की शाखा सेमरी महमूदपुर की है। शुक्रवार को भीषण कड़कड़ाती ठंड और बरसात हो रही थी। क्षेत्र के विशुनदासपुर निवासी पतिरजी (80) पत्नी संतोषी बीमारी के चलते परिजनों के साथ इलाज के लिये अपने खाते से ठेले पर बैठ कर पैसा निकालने के लिये आई थी।

आरोप है कि बैंक मैनेजर से कई बार मिन्नतें करने के बाद बैंक के बाहर ठेले पर आई पतिरजी से मिलकर पैसा निकालने के लिये कहा गया। शाखा प्रबंधक ने देखकर कहा मैं इनका पैसा नहीं निकाल सकता ये सेंसलेस है। जबकि वृद्ध बीमार महिला बीमारी के चलते शारीरिक रूप से अक्षम हो जाने के कारण हाथों से पैसे के लिये इशारे करती रही।

शाखा प्रबंधक के अड़ियल और मनमानी रवैये के चलते पैसा नहीं दिया गया। परिजनों ने कहा भी कि गंभीर बीमारी के चलते महिला की इलाज के अभाव में मौत भी हो सकती है। ग्राम प्रधान व अन्य लोंगों की गवाही कराकर पेमेंट देने के लिये भी कहा गया लेकिन मैनेजर ने एक न सुनी। आज सुबह इलाज के अभाव में वृद्धा महिला ने दम तोड़ दिया।

जब इस संबंध में बैंक के शाखा प्रबंधक सरोज कुमार से बात की गई तो उन्होंने बताया कि महिला सेंसलेस अवस्था में आई थी। जिससे पेमेंट नहीं दिया जा सका। वृद्ध महिला के इलाज के लिये पैसे तभी दिए जा सकते हैं जब कोई चिकित्सक यह लिखकर दे कि अमुक वृद्ध महिला का वारिस है।

P.K. Tyagi

प्रमोद त्यागी (अधिवक्ता), पोर्टल टीम के वरिष्ठ संपादक हैं। वह सार्वजनिक-सरकारी पहलुओं, सामाजिक मुद्दों, राजनीतिक परिदृश्य और जनमत सर्वेक्षणों पर लिखते हैं। वह विश्व हिंदू महासंघ और राष्ट्रीय पत्रकार महासंघ के राज्य स्तरीय समिति सदस्य हैं। त्यागी टीम समन्वय, सभी प्रकाशित समाचार सामग्री और भविष्य की संबद्धता/पंजीकरण के लिए जिम्मेदार हैं।

P.K. Tyagi has 70 posts and counting. See all posts by P.K. Tyagi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

17 + five =