Muzaffarnagar: बारिश से मिजाज फिर पलटा, ठंड से लोग घरों में कैद

Muzaffarnagar:मुजफ्फरनगर। मौसम का मिजाज शुक्रवार की रात्रि से फिर बदल गया। देर रात्रि से शुरू हुई बूंदाबांदी पूरे दिन कभी तेज बारिश तो कभी धीमी होती रही। बारिश होने ठंड में इजाफा हो गया। बाजारों में कुछ दुकानें तो देर से खुली और कुछ दुकानदार बारिश का मौसम देखकर दुकान पर नहीं आये।

बारिश से लोग भी बहुत कम सडकों पर निकले जाम की स्थिति से भी निजात रही। मौसम को लेकर किसानों के माथे पर चिता की लकीरें खींची हुई हैं। किसानों को डर है कि खराब मौसम में बारिश के साथ ओलावृष्टि न हो जाए। बारिश के बीच शीतलहर चलने से ठंड में भी बढ़ोतरी हो गई।

जनवरी माह लगते ही मौसम का मिजाज कुछ अलग ही हो रहा है ठंड भी लगातार बढ रही है वहीं धूप भी नाममात्र को ही निकल रही है। शुक्रवार देर रात्रि से ही जनपद में रुक-रुक कर बारिश होती रही। पूरे दिन में सूर्यदेव के दर्शन नहीं हुए। बारिश व ठंड होने के कारण लोग जरूरी कार्य के लिए ही घरों से बाहर निकले। सुबह से ही आसमान में बादल छाए रहे और हल्की बूंदाबांदी भी होती रही। पूरे दिन बारिश कभी तेज कभी तो धीमी होती रही।

बारिश के कारण जनजीवन अस्त व्यस्त रहा। चिकित्सकों का कहना है कि बरसात होने से सर्दी बढ़ जाती है। बारिश में भीगने से सर्दी, जुखाम, बुखार, खांसी होने की संभावना रहती है। जबकि छोटे बच्चे विंटर डायरेया की चपेट में आ सकते है। आवश्यकता पड़ने से योग्य चिकित्सक से सलाह लें।

गर्म कपड़ों का सहारा लें। बच्चों और बुजुर्गा को खासकर घर से बाहर जाने से रोके।ठंड से राहत मिलने के फिलहाल कोई आसार नजर नहीं आ रहे हैं। देर रात्रि से रही बारिश ने एक बार फिर ठंड को और बढ़ा दिया है। गरीब लोगों को ठंड से राहत नहीं मिल रही है। हाल यह हो गया है कि आदमी ही नहीं पशु भी आग तापने को मजबूर हो गए हैं।

बारिश के काराण सर्दी का मौसम अपने यौवन है। लोग गर्म कपड़ों में लिपटे रहने के बावजूद आग तापने पर मजबूर रहे। इस समय रात में भी आग के बिना काम नहीं चल रहा है। ठंडी हवा भी लोगों को राहत नहीं लेने दे रही है। पिछले तीन दिन से पड़ रही सर्दी की रफ्तार भी लगातार बढ़ रही हे। पहाड़ों पर हो रही बर्फबारी ने मौसम को ज्यादा ठंडा कर रखा है।

News

Dr. Sanjay Kumar Agarwal

डॉ. एस.के. अग्रवाल न्यूज नेटवर्क के मैनेजिंग एडिटर हैं। वह मीडिया योजना, समाचार प्रचार और समन्वय सहित समग्र प्रबंधन के लिए जिम्मेदार है। उन्हें मीडिया, पत्रकारिता और इवेंट-मीडिया प्रबंधन के क्षेत्र में लगभग 3.5 दशकों से अधिक का व्यापक अनुभव है। वह राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कई प्रतिष्ठित समाचार पत्रों, चैनलों और पत्रिकाओं से जुड़े हुए हैं। संपर्क ई.मेल- drsanjaykagarwal@gmail.com

Dr. Sanjay Kumar Agarwal has 90 posts and counting. See all posts by Dr. Sanjay Kumar Agarwal

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

seventeen − 13 =