मथुरा: रेप पीड़िता ने एसएसपी ऑफिस पर की आत्मदाह की कोशिश, पुलिस-प्रशासन में हड़कम्प

मथुरा पुलिस द्वारा बलात्कार के आरोपियों को गिरफ्तार न करने से आहत एक रेप पीड़िता ने एसएसपी कार्यालय पर पेट्रोल छिड़ककर आत्मदाह की कोशिश की। हालांकि पुलिस ने समय रहते पीड़िता को बचा लिया। एसएसपी ऑफिस में घटित हुई इस घटना से पुलिस-प्रशासन में हड़कम्प मच गया है।

वहीं मामले के कुछ देर बाद पीड़िता का बयान आया कि कुछ लोगों के उकसाने पर इस कदम को उठाया था। साथ ही उसने आत्मदाह की कोशिश के लिए माफी भी मांगी।

उधर पुलिस ने बयान जारी कर रहा है कि पीड़िता ने 161 व 164 के बयान दर्ज हो चुके है सिर्फ आरोपियों की गिरफ्तारी शेष है। एसएसपी ने बताया कि आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए दबिश दी रही है। फरार आरोपियों की गिरफ्तारी जल्द से जल्द हो जाएगी।

आत्महत्या के लिए पेट्रोल डाल आग लगने का प्रयास करने वाली महिला थाना हाइवे क्षेत्र की रहने वाली है। पीड़ित महिला अधिवक्ता है, जिसने 7 मई 2021 को थाने हाइवे में बीएसए काॅलेज के लाॅ प्रोफेसर डी.डी. चौहान एवं उसके सहयोगी विनोद बिन्दल एडवोकेट सहित 4 आरोपियों के खिलाफ बलात्कार का मुकद्मा दर्ज कराया था, लेकिन आरोपियों के प्रभावशाली होने के कारण ना तो पीड़िता का तत्काल डाॅक्टरी परीक्षण कराया गया और ना ही 164 के बयान दर्ज कराये गये।

जिस पर पीड़िता ने 13 मई 2021 को एसएसपी को पत्र लिखकर आरोपियों से पुलिस द्वारा सांठ-गांठ कर डाॅक्टरी परीक्षण एवं गिरफ्तार ना करने का आरोप लगाया था। साथ ही पत्र में चेतावनी दी कि अगर तत्काल आरोपी गिरफ्तार नहीं किये गये तो वह कार्यालय पर आत्मदाह करेगी। आज उसने कार्यालय के सामने ज्वलनशील पदार्थ अपने ऊपर डाल लिया, जिसे देख वहां मौजूद एक पुलिशकर्मी ने उसको पकड़ लिया।

News Desk

निष्पक्ष NEWS,जो मुख्यतः मेन स्ट्रीम MEDIA का हिस्सा नहीं बन पाती हैं।

News Desk has 6018 posts and counting. See all posts by News Desk

Avatar Of News Desk

Leave a Reply

Your email address will not be published.

fifteen − 13 =