संपादकीय विशेष

Muzaffarnagar: किसान मसीहा Chaudhary Mahendra Singh Tikait को शत शत नमन

मुजफ्फरनगर। (Muzaffarnagar)  जीवन पर्यन्त किसानो के हितों की लडाई लडने वाले किसान मसीहा बाबा महेन्द्र सिंह टिकैत एवं श्रीमति बलजोरी टिकैत की पुण्यतिथि पर भाकियू की राजधानी सिसौली में विभिन्न किसान संगठनो सहित क्षेत्र के गणमान्य लोगां ने बाबा टिकैत को अपने श्रृद्धासुमन अर्पित किए।

एक परिचर्चा में अशोक बालियान, सुभाष चौधरी, किसान नेता चांदवीर सिंह, अनुज बालियान व अंकित बालियान ने किसान मसीहा चौधरी महेंद्र सिंह टिकैत (Chaudhary Mahendra Singh Tikait) को उनकी १५ मई को होने वाली पुण्यतिथि के लिए शत शत नमन किया और उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की।

चौधरी महेंद्र सिंह टिकैत (Chaudhary Mahendra Singh Tikait)  हमेशा गाढ़े का कुर्ता और गाँधी टोपी पहनते थे। चौधरी टिकैत का जन्म ६ अक्टूबर १९३५ में जनपद मुजफ्फरनगर के सिसौली गाँव में हुआ था।अपने पिता की मृत्यु के बाद वे आठ साल की उम्र में बालियान खाप के चौधरी बने थे।

चौधरी महेंद्र सिंह टिकैत (Chaudhary Mahendra Singh Tikait)  की किसान राजनीति का सबसे बड़ा क्षण तब आया था, जब उन्होंने २५ अक्टूबर १९८८ को दिल्ली के मशहूर बोट क्लब के लॉन पर करीब पाँच लाख किसानों को इकट्ठा किया था।उनकी माँग थी कि किसानों को उसकी फसल का लाभकारी मूल्य दिया जाए व पानी, बिजली की दरों कम की जाएं और किसानों के कर्जे माफ किए जाएं।

दिल्ली वोट क्लब पर आने से पहले उन्होंने शामली, मुजफ्फरनगर और मेरठ में बहुत बड़े धरने दिए थे। मेरठ में उन्होंने २७ दिनों तक कमिश्नरी का घेराव किया था।
जब चौधरी टिकैत अपनी लोकप्रियता के चरम पर थे, तब भी वो अपने हाथों से खेती किया करते थे। उन्होंने देश और विदेश में किसानों के मंच पर गांव की सादगी का मान बढ़ाया था।

चौधरी टिकैत (Chaudhary Mahendra Singh Tikait)  का आंदोलन कृषि विशेषज्ञों और सरकार का ध्यान अपनी तरफ खींचने में सफल रहा था। आन्दोलन के समय उनका प्रिय हुक्का हमेशा उनके सामने रहता था और वो बीच बीच में माइक पर जा कर अपने लोगों के सामने किसानों की समस्याओं पर बात करते थे। चौधरी टिकैत ने खुद को हमेशा राजनीति से दूर रखा।१५ मई, २०११ में मुजफ्फरनगर में चौधरी टिकैत का देहावसान हो गया था।

(Chaudhary Mahendra Singh Tikait) वे अपनी अंतिम सांस तक किसानों के हितों के लिए संघर्षरत रहे थे।ऐसे समर्पित व्यक्तित्व को हम सभी का कोटि कोटि अभिनन्दन है।

किसान मसीहा बाबा महेन्द्र सिंह टिकैत एवं श्रीमति बलजोरी टिकैत की पुण्यतिथि: श्रृद्धासुमन अर्पित किये

Muzaffarnagar Newsमुजफ्फरनगर। (Muzaffarnagar News) आज दोपहर के वक्त सिसौली पहुंचे भाजपा नेता गौरव स्वरूप ने सिसौली पहुंच कर बाबा महेन्द्र सिंह टिकैत एवं श्रीमति बलजोरी टिकैत को श्रृद्धांजलि अर्पित की गौरव स्वरूप ने अपनी पत्नि मिनाक्षी स्वरूप के शपथ ग्रहण समारोह मे आने का निमंत्रण भाकियू अध्यक्ष चौ.नरेश टिकैत को दिया।

उल्लेखनीय है कि गांव सिसौली निवासी किसान नेता बाबा महेन्द्र सिंह टिकैत ने अपने जीवनकाल मे किसानो की समस्याओं के समाधान के लिए अनेक लडाईयां लडी। उन्होने किसान हित मे ना जाने कितनी बार धरने प्रदर्शन किए।

उनके नेतृत्व में देशभर का किसान एकजुट रहा। भारतीय किसान यूनियन की एक खासबात यह रही कि बाबा टिकैत के नेतृत्व में देश भर मे सभी बिरादियों के किसान एकजुट रहे तथा संगठन हित मे हमेशा तत्पर रहे। सादगी के साथ अपनी बात को रखने वाले बाबा महेन्द्र सिह टिकैत की नेतृत्व क्षमता आज भी किसान राजनीति मे चर्चा का अहम हिस्सा है। इस दौरान भाकियू के राष्ट्रीय अध्यक्ष चौ.नरेश टिकैत,भाकियू प्रवक्ता राकेश टिकैत,युवा नेता गौरव टिकैत,चरण सिंह टिकैत,किसान नेता राजीव बालियान एवं किसान चिन्तक कमल मित्तल सहित कई ग्राम प्रधान, ब्लॉक प्रमुख एवं कई अन्य किसान संगठनो से जुडे नेता तथा क्षेत्र के गणमान्य लोग मौजूद रहे।

Dr. Sanjay Kumar Agarwal

डॉ. एस.के. अग्रवाल न्यूज नेटवर्क के मैनेजिंग एडिटर हैं। वह मीडिया योजना, समाचार प्रचार और समन्वय सहित समग्र प्रबंधन के लिए जिम्मेदार है। उन्हें मीडिया, पत्रकारिता और इवेंट-मीडिया प्रबंधन के क्षेत्र में लगभग 3.5 दशकों से अधिक का व्यापक अनुभव है। वह राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कई प्रतिष्ठित समाचार पत्रों, चैनलों और पत्रिकाओं से जुड़े हुए हैं। संपर्क ई.मेल- [email protected]

Dr. Sanjay Kumar Agarwal has 287 posts and counting. See all posts by Dr. Sanjay Kumar Agarwal

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

17 − 10 =