Muzaffarnagar: ठंड से जीवन हलकान, जिले में वायु प्रदूषण में कमी

Muzaffarnagar: मुजफ्फरनगर। ठंड का प्रकोप लगातार बढता जा रहा है शायद अभी ठंड कम नहीं होगी आगामी दिनों में ठंड का प्रकोप इसी तरह से बदस्तूर जारी रहेगा। हालांकि धूप निकलने से लोगों को जहां ठंड से राहत मिलती है वहीं धूप न खिलने पर लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है।

मंगलवार को भी जहां एक ओर सुबह के समय ठंड का पूरा प्रकोप दिखाई दिया वहीं थोडी देर के बाद मौसम ने एक बार फिर करवट ली है। सुबह के समय बादलों के आगोश में छिपा रहा सूरज बाहर आ गया। सूरज निकलते ही धूप से आसमान चमक उठा। मौसम खुल गया और आसमान से गिर रही बारिश की मामूली बूंद भी बंद हो गई।

लेकिन थोड़ी देर मे ही सूरज फिर धुंधुला पड़ गया। आसमान मे सूरज की लुकाछिपी का दौर जारी है। कच्ची धूप वातावरण को मनोरम बना रही है।नए साल में जनवरी का माह शुरू होते ही मौसम ने भी नया रंग दिखाना शुरू कर दिया है। सोमवार रात आसमान में बादल छाए रहे। सोमवार को न्यूनतम तापमान ३.४ डिग्री रहा जबकि अधिकतम २०.४ डिग्री दर्ज किया गया। रात के समय आसमान में बादल छाए रहने के कारण पारा अधिक नीचे नहीं गया।

जिसका प्रभाव मंगलवार सुबह देखने को मिला। सूरज बादलों की आगोश से बाहर नहीं आया। आसमान पर कोहरे की चादर चढ़ी दिखाई दी। मिनिमम टैम्प्रेचर में भी बढोतरी महसूस की गई। मंगलवार को मिनिमम टैंम्प्रेचर सोमवार के मुकाबले बढ़कर ७.२ डिग्री पर पहुंच गया। मौसम विशेषज्ञों के अनुसार मिनीमम तथा मैक्सीमम टैम्प्रेचर के बीच का फासला धीरे-धीरे कम होता जा रहा है।

जिले में वायु प्रदूषण में कमी होती नजर नहीं आ रही। मंगलवार को जिले में एक्यूआई स्तर ३९० रहा। जाड़े के मौसम में जिले में करीब ३००० गुड़ कोल्हु संचालित होते हैं। जिनमें मानक के विपरीत ईंधन के रूप में पालीथिन आदि प्रयोग की जाती है। जिसके चलते वातावरण में वायु प्रदूषण का स्तर बढ़ जाता है।

क्षेत्रीय प्रदूषण नियंत्रण विभाग प्रदूषण फैलाने वाली इकाइयों पर कार्रवाई भी कर रहा है। लेकिन यह सब नाकाफी साबित हो रहा है। हालांकि मंगलवार को शहर में साप्ताहिक अवकाश था इस कारण लोगों की संख्या बाजारों में इतनी नहीं दिखाई पड़ती है वैसे तो ठंड के कारण सुबह व शाम को बहुत कम लोग निकल रहे है।

Dr. Sanjay Kumar Agarwal

डॉ. एस.के. अग्रवाल न्यूज नेटवर्क के मैनेजिंग एडिटर हैं। वह मीडिया योजना, समाचार प्रचार और समन्वय सहित समग्र प्रबंधन के लिए जिम्मेदार है। उन्हें मीडिया, पत्रकारिता और इवेंट-मीडिया प्रबंधन के क्षेत्र में लगभग 3.5 दशकों से अधिक का व्यापक अनुभव है। वह राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कई प्रतिष्ठित समाचार पत्रों, चैनलों और पत्रिकाओं से जुड़े हुए हैं। संपर्क ई.मेल- drsanjaykagarwal@gmail.com

Dr. Sanjay Kumar Agarwal has 151 posts and counting. See all posts by Dr. Sanjay Kumar Agarwal

Leave a Reply

Your email address will not be published.

five + thirteen =