Muzaffarnagar और आसपास से प्रमुख खबरें

Muzaffarnagar News: भक्तों का कल्याण करने स्वर्ण रथ लेकर निकले बालाजी

मुजफ्फरनगर।(Muzaffarnagar News)। इस साल लंबे विवाद और बीती आधी रात तक श्री बालाजी धाम मंदिर परिसर में चले विवाद के बाद जिले के आला अफसरों की फटकार पाकर सीधे हुए दो गुटों में बटी मंदिर कमेटी के पदाधिकारियों ने मंगलवार को सवेरे वीर शिरामणि हनुमान जन्मोत्सव पर भव्य शोभायात्रा का शुभारंभ किया तो मानो पूरा जिला ही केसरिया हो गया, इस शोभायात्रा में इस बार भी बजरंग बलि के भक्तों का ऐसा सैलाब उमड़ा कि तमाम व्यवस्था आस्था और भक्ति की इस बयार में बहती नजर आई।
भगवान श्रीराम के अनन्य भक्त हनुमान जन्मोत्सव पूरे जिले में ही धूमधाम और श्र(ा भाव के साथ मनाया गया। शहर की भरतिया कालोनी स्थित श्री बालाजी धाम मंदिर परिसर में तो मानो आस्था की गंगोत्री बहती नजर आई। यहां से सवेरे भगवान श्री बालाजी जी की भव्य शोभायात्रा निकाली गई। पहले बालाजी का स्वर्ण श्रृंगार हुआ, उनको ५६ भोग लगा और फिर आरती हुई।
इसके बाद यहां पर जमा मंदिर समिति के पदाधिकारियों, सदस्यों और आम भक्तों के बीच सभी ने केक काटकर श्री बालाजी का जन्मोत्सव मनाया। बजरंग बलि और जय श्रीराम के जयघोष के बीच मंदिर से श्री बालाजी का स्वर्ण रथ पर सवार करने के बाद इस शोभायात्रा का शुभारंभ किया गया। इस दौरान भक्तों ने अपने हाथों से श्री बालाजी महाराज का स्वर्ण रथ खींचा, उनका प्रसाद पाने के लिए भक्तों में आपाधापी का आलम रहा। इसके साथ ही शहर में भक्तों का कल्याण करने के लिए निकले श्री बालाजी का जगह जगह पुष्प वर्षा के साथ स्वागत किया गया।
हर कदम पर भण्डारा और डीजे लगाये गये थे। शोभायात्रा में भक्तों ने दिव्य एवं आलौकिक झांकियों के भी दर्शन किए। श्री बालाजी धाम मन्दिर सेवा समिति की और से प्रत्येक वर्ष की भांति श्री बालाजी महाराज के जन्मोत्सव के अवसर पर विशाल शोभायात्रा निकाली गई जो शहर के विभिन्न मार्गो से गुजरी तो पूरा क्षेत्र ही केसरिया हो गया। चौत्र शुदी पुर्णिमा पर मंगलवार को भगवान श्री बालाजी महाराज के जन्मोत्सव को धूमधाम से मनाया गया। भगवान श्री बालाजी महाराज के स्वर्ण श्रृंगार दर्शन, छप्पन भोग व महाआरती के पश्चात भगवान श्री बालाजी महाराज प्रातः करीब १० बजे स्वर्ण रथ पर विराजमान होकर अपने झूमते-नाचते भक्तों के संग व रामनाम के रस मे सराबोर होकर अपने भक्तों के मंगल कल्याण हेतु मंदिर प्रांगण से नगर भ्रमण पर निकले।
नई मन्डी भरतिया कालोनी स्थित श्री बालाजी धाम मंदिर से बालाजी जन्मोत्सव के अवसर पर निकाली गई विशाल शोभायात्रा के शुभारंभ अवसर पर पधारे भक्तों की भारी भीड़ के बीच मंदिर कमेटी के दोनों गुटों के पदाधिकारियों और सदस्यों ने सभी का स्वागत किया। यहां पर पहुंचे अतिथियों का मंदिर समिति के पदाधिकारी समाजसेवी भीमसैन कंसल आदि पदाधिकारियों द्वारा पटका पहनाकर स्वागत करते हुए उनको सम्मानित किया गया।
 इस अवसर पर अतिथियों द्वारा जनपदवासियों को श्री बालाजी जन्मोत्सव की शुभकामनाए दी गई। जिसके पश्चात श्री बालाजी धाम मन्दिर प्रांगण से श्री बालाजी महाराज की शोभायात्रा प्रारम्भ हुई। अपने स्वर्ण रथ पर विराजमान श्री बालाजी महाराज मंदिर प्रांगण से चलकर नवीन मंडी स्थल, मुनीम कालोनी, जैन कन्या इण्टर कॉलेज, बड़ा डाकखाना, गउशाला रोड, नन्दी स्वीटस, पुरानी गुड मण्डी रोड से मुडकर पीठ बाजार, चौडी गली, बिन्दल बाजार, मेहता क्लब के बराबर से वकील रोड, बड़ी धर्मशाला के चौराहे से, गउशाला रोड, भोपा पुल, अंसारी रोड से मोतीमहल, सर्राफा बाजार, भगत सिंह रोड, शिवचौक, बालाजी चौक, थाना सिविल लाईन्स से गांधी कालोनी पुल से लक्ष्मीनारायण मन्दिर गांधी कालोनी मेन रोड, द्वारिकापुरी से होते हुए भोपा पुल के बराबर से वकील रोड, नई मंडी बिजलीघर से बड़ा डाकखाना होते हुए गुजरी, पूरी रात चलने वाली यह शोभायात्रा बुधवार की सुबह वापस मंदिर में आकर संपन्न होगी।
शोभायात्रा में १२ बैण्ड, ढोल-ताशे, आतिशबाजी के साथ-साथ बाबा बालाजी की शोभायात्रा में उनके स्वर्ण रथ की अगुवाई करने के लिए बाबा श्री खाटू श्याम, बाबा अमरनाथ, बाबा महाकाल, बाबा बालकनाथ एवं स्वयं प्रभु श्रीराम अपने रथ पर पूर्ण श्रृंगार के साथ सम्मलित रहे। इस शोभा यात्रा में भक्तों को अन्य दिव्य अलौकिक झांकियों के दर्शन हुए, कई झांकियों ने भक्तों को आकर्षित करते हुए अपने मोहपाश में बांधे रखा। भजनों पर कलाकर विभिन्न देवी देवताओं का स्वरूप रचकर नृत्य करते हुए नजर आये। भक्तों को भी झूमते और नाचते हुए देखा गया।
फूलों की बारिश के बीच भक्तों ने रंग और गुलाल भी उड़ाकर खुद को हनुमान भक्ती से सरोबार कर लिया था।इस साल भगवान बालाजी की शोभायात्रा को लेकर मंदिर कमेटी के पदाधिकारियों में दो गुट बन जाने और अंदरूनी खींचतान तथा लड़ाई सड़कों पर आ जाने के कारण बड़ा विवाद उत्पन्न हुआ। शोभायात्रा नहीं निकलने की खबरों के बीच हनुमान भक्तों में भारी आक्रोश उत्पन्न हो गया था।
भक्तों ने मंदिर परिसर में ही हंगामा करते हुए शोभायात्रा निकाले जाने की मांग की थी। इस बीच समाजसेवी भीम कंसल ने आगे आकर पहल की और पुलिस प्रशासन के सहयोग से दोनों कमेटियों में आम सहमति बनाने के बाद मंगलवार को शोभायात्रा का आयोजन किया गया। इसके चलते भक्तों में भगवान बालाजी का स्वागत करने के लिए उत्साह चरम पर नजर आया। पूरे शहर को तोरण द्वारों और केसरिया ध्वजों से सजाया गया था। हर कदम पर भण्डारा और डीजे लगाकर भक्तों द्वारा बालाजी के स्वागत की तैयारी की गई थी।
श्री बालाजी जन्मोत्सव पर निकाली गई शोभायात्रा की सफलता में मुख्य रूप से चन्द्रकिरण गर्ग संस्थापक, सुरेश चन्द बंसल संरक्षक, हरिशंकर तायल, राकेश अरोरा कोषाध्यक्ष, विजय बंसल मंत्री, समाजसेवी भीमसैन कंसल, सुनील तायल, अशोक शर्मा, नितिन गोयल, अमरीश सिंघल, जे.पी. गोयल उर्फ चचा, लोकेश कुमार, मनोज खण्डेलवाल, नवीन बिन्दल, श्रवण गुप्ता, उदित गर्ग, अंकित गर्ग, सदाशिव शर्मा आदि मंदिर समिति के पदाधिकारियों का विशेष सहयोग रहा। जिला पुलिस प्रशासन एवं यातायात पुलिस द्वारा शोभायात्रा के मददेनजर पूर्व में ही विभिन्न व्यवस्थाएं सुनिश्चित कर दी गई थी। इस बार सुरक्षा के लिहाज से विशेष व्यवस्था की गई थी। दो एएसपी के साथ भारी पुलिस फोर्स शोभायात्रा में लगाया गया था।

News Desk

निष्पक्ष NEWS.जो मुख्यतः मेन स्ट्रीम MEDIA का हिस्सा नहीं बन पाती हैं।

News Desk has 15254 posts and counting. See all posts by News Desk

Avatar Of News Desk

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

15 + 20 =