समाचार

80 प्रतिशत मूल जोत से छेडछाड की तो होगी कार्यवाहीः डीएम19 Min 1
मुजफ्फरनगर। चकबन्दी कार्यो की प्रगति समीक्षा करते हुए जिलाधिकारी चंद्रभूषण सिंह ने कहा कि 80 प्रतिशत मूल जोत से छेडछाड की गई तो ऐसे अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।
जिलाधिकारी चन्द्र भूषण सिंह की अध्यक्षता में जिला पंचायत सभागार में चकबन्दी कार्यो की प्रगति की समीक्षा के संबंध में बैठक आहुत की गयी। जिसमें जिलाधिकारी ने निर्देश दिये कि जिस ग्राम में चकबन्दी है तथा वहां के किसान एंव ग्राम प्रधान गांव में चकबन्दी नही चाहतें है वो चकबन्दी कमेटी के माध्यम सें प्रस्ताव पास कराते हुए उस ग्राम को चकबन्दी से मुक्त करा दिया जायें और जिस ग्राम में चकबन्दी चल रही है उनकी शिकायतें सहायक चकबन्दी अधिकारी ग्राम में चौपाल लगाकर शिकायतों का तत्काल निस्तारण करायें यदि किसी भी अधिकारी की लापरवाही बरती गयी तों उसके विरुद्व कडी कार्यवाही की जायेगी। साथ ही जिलाधिकारी महोदय ने यह भी कहा कि 80 प्रतिशत मूल जोत से छेडछाड की तो संबंधित अधिकारी पर कार्यवाही सुनिश्चित है और उन्होने कहा कि विवाद ग्रामों को चिन्हित करतें हुए संबंधित अधिकारी उसी ग्राम में बैठक कर विवादों का निस्तारण करायें। इसी के साथ जिलाधिकारी ने उपसंचालक चकबन्दी, बंदोबस्त अधिकारी चकबन्दी, चकबन्दी अधिकारी के न्यायालय में लंबित मुकदमों को यथाशीघ्र निस्तारण करायें साथ ही उक्त के स्तर से जिन ग्रामों में चकबन्दी का कार्य पूर्ण नही हुआ है या कार्य जारी है उन्हे भी ग्राम में चौपाल लगाकर निस्तारण करायें। शिकायत आने पर संबंधित अधिकारी के खिलाफ कार्यवाही करेंगें। मेरा उदद्ेश्य है कि किसान किसी भी प्रकार से पीडित नही होना चाहिए जब हम शिकायतें सुनते है तो क्यों न हम उसी ग्राम में चौपाल लगाकर अन्य शिकायतों का भी निस्तारण कर सकें।
जिलाधिकारी ने कहा कि यदि किसी भी अधिकारीध्कर्मचारी के संबंध में भ्रष्टाचार या अवैध वसूली की शिकायत प्राप्त होती है तो वह मेरे कार्यालय में व्यक्तिगत रुप से मिल सकता है मै उसकी गोपनीय जांच कराकर संबंधित अधिकारी पर अभियोग दर्ज कराकर जेल भेजने की कार्यवाही की जायेगी। इस बैठक में अपर जिलाधिकारी वि.ध्रा. , प्रशासन, समस्त उपजिलाधिकारी, उपसंचालक चकबन्दी, बंदोबस्त अधिकारी चकबन्दी, चकबन्दी अधिकारीध्सहायक चकबन्दी अधिकारी एवं ग्राम प्रधान एवं ग्रामीण उपस्थित रहे।

पुलिस ने कई जुआरी दबौचे
मुजफ्फरनगर। थाना कोतवाली नगर पर नियुक्त उ0नि0 जितेन्द्र सिंह द्वारा जुआरी अभियुक्त सलीम पुत्र मंसद अली निवासी खालसा पट्टी सुजडू थाना कोतवाली नगर मुजफ्फरनगर को अभियुक्त सलीम के मसकन से गिरफ्तार किया गया। अभियुक्त के कब्जे से पर्चा, सट्टी, पेन, मोबाइल व 2450 रुपये नकद बरामद किये गये। इसके अलावा थाना तितावी पर नियुक्त उ0नि0 संजय कुमार द्वारा अभियुक्त तासीन पुत्र शमशीर निवासी कुटेसरा थाना चरथावल मुजफ्फरनगर को पुराना बघरा बस स्टैण्ड से गिरफ्तार किया गया। अभियुक्त के कब्जे से पर्चा, सट्टा, 720 रुपये नकद बरामद किये गये।इसके अलावा थाना तितावी पर नियुक्त उ0नि0 मोहित कुमार द्वारा अभियुक्त अरवाव पुत्र महताब निवासी बुढिना खुर्द थाना तितावी मुजफ्फरनगर को बुढीना खुर्द से गिरफ्तार किया गया। अभियुक्त के कब्जे से पर्चा, सट्टा, 520 रुपये नकद बरामद किये गये।

 

कई वांछितों/वांरटियों को गिरफ्तार किया
मुजफ्फरनगर। अलग अलग स्थानों से कई वांछितों/वांरटियों को गिरफ्तार किया। थाना कोतवाली नगर पर नियुक्त उ0नि0 भूपेन्द्र शर्मा द्वारा वारण्टी अभियुक्त पप्पू पुत्र आसा उर्फ सूरजा निवासी मिमलाना रोड थाना कोतवाली नगर मुजफ्फरनगर को अभियुक्त के मसकन से गिरफ्तार किया गया। इसके अलावा थाना खतौली पर नियुक्त उ0नि0 रविन्द्र सिंह परिहार द्वारा पोक्सो ऐक्ट में वांछित अभियुक्त दुर्गेश कुमार पुत्र कालीचरण निवासी ग्राम बासोनी थाना बासोनी जिला आगरा हाल पता आवास विकास काली मन्दिर खतौली मु0नगर को आवास विकास कालौनी के गेट से गिरफ्तार किया गया। इसके अलावा थाना खतौली पर का. चेतन सिंह द्वारा अभियुक्त सुहेल उर्फ नफीस पुत्र अख्तर निवासी ग्राम अलीपुर थाना कैराना जिला शामली को थाना परिसर खतौली से गिरफ्तार किया गया।

 

अवैध शस्त्र सहित कई दबौचे
मुजफ्फरनगर। थाना सिखेडा प्रभारी निरीक्षक सुभाष गौतम द्वारा गैंगस्टर अधि0-थाना नई मण्डी में वांछित अभियुक्त छोटा उर्फ राहुल पुत्र सत्यपाल निवासी सुभाषनगर थाना नई मण्डी मुजफ्फरनगर को नहर पुल जंगल ग्राम सिखेडा से गिरफ्तार किया गया। अभियुक्त के कब्जे से 01 चाकू नाजायज बरामद किया।
इसके अलावा महिला थाना पर नियुक्त उ0नि0 योगेश कुमार द्वारा दहेज अधि0 में वांछित अभियुक्त अरविन्द पुत्र सतवीर निवासी घासीपुरा थाना मंसूरपुर मुजफ्फरनगर को अभियुक्त के मसकन से गिरफ्तार किया गया। इसके अलावा थाना भौराकलां पर नियुक्त उ0नि0 राहुल कुमार द्वारा आबकारी अधि0 में वारण्टी अभियुक्त योगेश पुत्र भोपाल निवासी सिसौली थाना भौराकलां मुजफ्फरनगर को अभियुक्त के मसकन से गिरफ्तार किया गया। इसके अलावा थाना तितावी पर नियुक्त उ0नि0 रोहताश द्वारा अभियुक्त अर्जुन पुत्र रवि कुमार निवासी छतेला थाना तितावी मुजफ्फरनगर को ग्राम छतेला से गिरफ्तार किया गया। अभियुक्त के कब्जे से 01 तमंचा मय 01 जिन्दा कारतूस 315 बोर बरामद किया गया।
थाना नई मण्डी पर नियुक्त उ0नि0 कुमार गौरव द्वारा अभियुक्त हुसैन अली पुत्र मुशर्रफ निवासी बागोवाली थाना नई मण्डी मुजफ्फरनगर को ग्राम बागोवाली से गिरफ्तार किया गया। अभियुक्त के कब्जे से 06 किलोग्राम गौमांस व गौकशी के उपकरण बरामद किये गये।

अल्ट्रासाउंड कराने आई महिला का 4 माह के गर्भ का किया आपरेशन, वशिष्ठ हॉस्पिटल पर जबरदस्त हंगामा1 Min 8
मुजफ्फरनगर। जानसठ रोड स्थित एक हॉस्पिटल मे अल्ट्रासाउंड कराने आई गांव छपरा निवासी महिला के उपचार मे लापवाही व भ्रूण हत्या का आरोप लगाते हुए परिजनों ने हंगामे का प्रयास किया। मामले की जानकारी मिलते ही भगवा रक्षा वाहिनी व शिवसेना के कार्यकर्ता अस्पताल पहुंचे तथा आरोपी चिकित्सक के खिलाफ कार्यवाही की मांग को लेकर प्रदर्शन किया।
बताया जाता है कि भोपा थाना क्षेत्र के निकटवर्ती गांव छपरा निवासी एक युवती का विवाह गांव छपार मे हुआ है। परिजनो का आरोप है कि उनकी बेटी अपनी ससुराल वालो के साथ आज जानसठ रोड स्थित एक हॉस्पिटल मे आई थी। जहां उसे अल्ट्रासाउंड कराना था। पीडिता व उसके परिजनो का आरोप है कि उक्त हॉस्पिटल मे कार्यरत एक महिला चिकित्सक द्वारा लापरवाही बरतते हुए चार माह की भ्रूण हत्या कर दी। जिससे पीडिता के परिजनो व उनके साथ आए अन्य ग्रामीणो मे रोष बन गया। परिजनो तथा ग्रामीणों ने आरोपी चिकित्सक के खिलाफ कार्यवाही की मांग को लेकर हंगामा काटना शुरू कर दिया।
वहीं दूसरी और वशिष्ठ अस्पताल मे हंगामे की सूचना मिलते ही शिवसेना जिलाध्यक्ष बिटटू सिखेडा एवं भगवा रक्षा वाहिनी के पूर्व प्रान्त अध्यक्ष गौरव सिह आजाद सहित दर्जनो कार्यकर्ता मौके पर एकत्रित हो गए। हंगामे की सूचना मिलते ही नई मन्डी कोतवाली पुलिस कुछ ही देर में मौके पर पहुंच गए। भगवा रक्षा वाहिनी के विपिन कुमार तथा शिवसेना जिलाध्यक्ष बिटटू सिखेडा ने आरोपी डॉक्टर व नर्सो के खिलाफ जांच पडताल कराकर कार्यवाही की मांग की। इस दौरान शिवसेना जिला प्रमुख बिटटू सिखेडा,विशाल, भगवा रक्षा वाहिनी के विपिन कुमार,विक्रांत त्यागी, सौरभ,आकाश आदि कार्यकर्ता उपस्थ्ति रहे। मौके पर पहुंची नई मन्डी पुलिस ने गुस्साये ग्रामीणो को समझा-बुझाकर किसी प्रकाश शान्त कराया। पुलिस ने आरोपितों के खिलाफ सुसंगत धाराओ में कार्यवाही का आश्वासन दिया है।

गुलाब के पोधे रोपित किये3 Min 5
मुजफ्फरनगर। डाक्टर सतेन्द्र सिंहं प्रदेश अध्यक्ष उत्तम प्रदेश निर्माण संगठन ने जारी प्रेस विज्ञप्ति में बताया कि पर्यावरण मे आक्सीजन की मात्रा बढाने के उद्देश्य से उत्तम प्रदेश निर्माण संगठन के प्रदेश अध्यक्ष डाक्टर सतेन्द्र सिंह व कार्यकारिणी सदस्य राजकुमार ने वृक्षारोपण कार्यक्रम के अन्तर्गत रामपुर चौराहा रूडकी रोड राणा कालोनी व नारायणपुरम कालोनी मुजफ्फरनगर मे औषधाए पौधे पारिजात (हारश्रंगार) ,फलदार अमरूद, सजावटी पौधे गुलाब रोपित किये। उत्तम प्रदेश निर्माण संगठन पश्चिमी उत्तम प्रदेश अलग राज्य बनाने की मांग को लेकर किसान आन्दोलन के समर्थन मे दिल्ली कूच का बैनर जनजागरण हेतु लगाया। संगठन पिछले पांच वर्षा से पश्चिमी उत्तर प्रदेश अलग राज्य की मांग को लेकर पश्चिमी उत्तर प्रदेश के 21 जनपदो मे अलग अलग गांव मे जनसामान्य की बैठको का आयोजन कर लोगो को उनका हक दिलाने के लिए जागरूक कर रहा है। भाजपा सरकार मे एम्स की स्थापन पूर्वी उत्तर प्रदेश मे कराई ,ज्यादातर मेडिकल कालेज की घोषणा पूर्वी उत्तर प्रदेश के लिए की गई है। 72प्रतिशत राजस्व देने वाले पश्चिमी उत्तर प्रदेश के लोगो को विकास के के लिए मात्र18 प्रतिशत राजस्व मिलता है। पश्चिमी उत्तर प्रदेश के माननीय विधायक, माननीय सांसद,चुनाव उम्मीदवार बनने पर बडे बडे वायदे जनता से करते है लेकिन चुनाव जितने के बाद मतदाताओं व क्षेत्रीय जनता से कियेवायदे भूल जाते है।उत्तम प्रदेश संगठन आम जन से अपील करेगा एसे उम्मीदवार को अपना मत दें जो आपकी बात सदन मे दमदार ढंग से रख सके।

समस्याओं को सुनकर उपजिलाधिकारी सदर ने किया निस्तारण
मुजफ्फरनगर। जिलाधिकारी चंद्र भूषण सिंह के निर्देशों के क्रम में उपजिलाधिकारी सदर दीपक कुमार द्वारा तहसील सदर स्थित अपने कार्यालय में जनता दर्शन में सोशल डिस्टेंसिंग का अनुपालन कराते हुए जन सामान्य की समस्याओं/शिकायतों एव प्रस्तुत प्रार्थना पत्रों का विधिक एवं गुणवत्ता पूर्वक निस्तारण हेतु अधीनस्थों को निर्देशित किया। उन्होंने निर्देशित किया कि संबंधित अधिकारी प्राप्त शिकायतों का निस्तारण प्राथमिकता के आधार पर  करना सुनिश्चित करें। इसमें किसी प्रकार की शिथिलता बर्दाश्त नहीं की जायेगी। इस अवसर पर जनता दर्शन में आये आम जन उपस्थित रहे।

उपजिलाधिकारी ने विकास कार्यों का निरीक्षण किया5 Min 10
बुढाना। जिलाधिकारी चंद्र भूषण सिंह के निर्देशानुसार उपजिलाधिकारी बुढाना अजय अम्बष्ट द्वारा ग्राम शफीपुर पट्टी तहसील बुढ़ाना, विकास विभाग द्वारा कराए जा रहे कार्यों का स्थलीय निरीक्षण किया, एवं जल निगम व विकासखंड के अधिकारियों के साथ किया गया मौके पर कराए गए कार्यों का भौतिक सत्यापन एवं उनकी गुणवत्ता की जांच कराई गई।

हिंदी मातृ भाषा दिवस मनाया
मुज़फ्फरनगर। विकास खंड जानसठ के विद्यालयों में हिंदी मातृ भाषा दिवस के शुभ अवसर पर स्लोगन, ड्राइंग, निबन्ध इत्यादि विविध प्रतियोगिताओ का आयोजन किया गया। खंड शिक्षा अधिकारी डॉ सविता डबराल द्वारा बताया गया कि मातृभाषा विहीन राष्ट्र और प्राणविहीन शरीर एक समान ही होता है। मातृभाषा भाषा के सम्मान से व्यक्ति निर्माण होगा और व्यक्ति निर्माण से राष्ट्र को सम्मान मिलेगा। हिन्दी मे जो सहनशीलता, सहजता है वही हमारी मातृभाषा को राष्ट्र भाषा,राजभाषा ,प्रयोजनमूलक भाषा के रूप में स्थापित करती है।

शमशान घाट की सफाई करायी
मुजफ्फरनगर। जिलाधिकारी चंद्र भूषण सिंह के निर्देशानुसार अधिशासी अधिकारी मनोज कुमार के आदेश पर नगर पंचायत सिसौली में ंशमशान घाट की सफाई का कार्य किया गया, नगर पंचायत सिसौली द्वारा निरंतर नगर में साफ-सफाई के कार्य कराए जा रहे हैं इस कार्य में कार्यवाहक सफाई नायक अमित बालियान के नेतृत्व में संपन्न किया गया।

प्रतियोगिताओं का हुआ आयोजन
मुजफ्फरनगर। हिंदी दिवस के अवसर पर विद्यालय श्री अरविन्द इंटर कालेज पुरा, मुज़फ्फरनगर में विभिन्न प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया । जिसमें छात्र – छात्राओं ने बढ़ चढ़ कर भाग लिया । निर्णायक समिति में प्रधानाचार्य क्षितिज कुमार मिश्रा, डॉ० सारिका मलिक व दिनेश कुमार रहे । मंच सचालन कपिल देव त्यागी ने किया । सीनियर वर्ग में प्रथम स्थान पर तुषार गुप्ता व द्वितीय स्थान पर अरमाना रही। जूनियर वर्ग में प्रथम स्थान पर सबा, व द्वितीय स्थान पर अफसीन रहे। कार्यक्रम में सभी शिक्षक चाँदवीर धीर ध्यान, राजेश वर्मा, वीरेंद्र कुमार, उपवन गुप्ता , विजय कुमार त्यागी, दमयंती देवी, आकाश कुमार, विजय बालियान, गोपाल आदि व शिक्षणेत्तर कर्मचारियो का सहयोग रहा।

हिन्दी दिवस पर विचार गोष्ठी का आयोजन11 Min 5
मुजफ्फरनगर। नगर के भोपा मार्ग (रोड) पर स्थित एस. डी. कॉलेज ऑफ़ लॉ में आज हिंदी दिवस पर एक विचार गोष्ठी का आयोजन किया गया, कॉलेज चेयरमैन अशोक सरीन और सचिव विनोद कुमार ने हिन्दी दिवस की शुभकामनाओं के साथ विचार गोष्ठी का शुभारम्भ किया। जिसमे हिंदी की अनिवार्यता पर बल देने की सामूहिक स्वीकृति पर एक मत रहा, मुख्य वक्ता डॉ. मुकुल गुप्त का कहना था कि अब समय आ गया है कि संवैधानिक रूप से राज भाषा हिंदी जन जन की भाषा के रूप में अपनी सांस्कृतिक मर्यादा से विश्व में सबसे अधिक समृद्ध शब्दकोश के साथ विराजमान हो रही है, हिंदी की देवनागरी लिपि व्याकरण में वैज्ञानिक रूप से प्रमाणिक है, और यही कारण है कि विश्व में हिंदी की स्वीकृति बढ़ रही है, एक भारतीय होने के नाते से हम सभी को संवाद हिंदी में ही करना चाहिए, नवीन शिक्षा प्रणाली के माध्यम से हिंदी भाषा निरूसंदेह अपना गौरव पुनरू प्राप्त करेगी, उन्होंने यह भी आग्रह किया कि हम सभी को हिंदी साहित्य भी पढ़ना चाहिए ऐसा सभी का मानना था, कॉलेज डायरेक्टर मंजू मल्होत्रा ने हिंदी की स्वतंत्रता प्राप्ति से आज तक की यात्रा पर भी प्रकाश डाला, कॉलेज प्राचार्या डॉ. रेणु गर्ग ने कहा कि हिंदी हमारे व्यक्तित्व का परिचायक है, कॉलेज प्रवक्ता वैभव कश्यप ने कहा कि संवाद का सशक्त माध्यम हिन्दी ही है, स्वामी विवेकानन्द ने शिकागो की धर्म सभा मे भारतीय सभ्यता के दर्शन से सम्पूर्ण जगत को अवगत कराया था जिससे हिन्दी भाषा को भी बल मिला ढ्ढ छात्र गौरव चौहान का मानना था कि हिंदी के प्रति रुझान तभी बढेगा जब इसे रोजगारमुखी बनाया जाए, हिंदी अनिवार्य रूप से पाठ्यक्रम का हिस्सा हो, लेखाकार अभिनव गोयल का मानना था कि हिंदी के प्रति व्यवहारिक चिन्तन को स्वीकार करने की आवश्यकता है जिससे हिंदी की स्वीकार्यता को बल मिले, अमित कुमार ने कहा कि हिन्दी भाषा का विकास मुगलों के आक्रमण से अवरुद्ध हुआ परन्तु हिंदी जन जन की भाषा बन कर संवाद का सशक्त माध्यम बनी रही, पाखी का कहना था कि हिंदी कबीर, रहीम और रसखान के दोहों और छंदों से सदा समाज में स्वंय को स्थापित करती रही , गौरव और रमशा का मानना था कि हिंदी हमेशा से जन जन कि भाषा रही और भारतेंदु हरिश्चंद्र के लेखन से हिंदी को बल मिला, अवताद ने कहा कि जब हम हिंदी की बात करे तो मुंशी प्रेमचंद के योगदान को कौन भूल सकता है आज भी हिंदी कथानक से हम हिन्दी भाषा को समझते है, अक्षा का कहना था कि भारत का जन मानस हिंदी मे ही चिंतन करता है परन्तु पश्चिमी प्रभाव के कारण हम अपनी भाषा को भूल जाते है परन्तु हिंदी भाषा स्वंय को विश्व में स्थापित करेगी ऐसा विश्वास है,हनु का मानना था कि लार्ड मैकाले की शिक्षा प्रणाली ने हमारे स्वाभिमान को पश्चिमी जगत से जोड़ा, परन्तु हिंदी के गौरव को समाप्त करने में ब्रिटिश सत्ता असफल रही, प्राक्षी,सोनम,सिमरन का कहना था कि आज हिन्दी का प्रभाव साहित्य से सिनेमा तक है,और सम्पूर्ण भारत वर्ष मे इसका प्रभाव सकारात्मक है, आन्या ने कहा कि हिंदी के प्रति सबसे बड़ा सम्मान पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का था जब उन्होंने पहली बार सयुंक्त राष्ट्र संघ को हिन्दी भाषा से ही सम्बोधित किया था, वन्दना,पाखी,कौसर और वर्तिका ने हिन्दी भाषा के महत्व को स्वीकार कर कविता के माध्यम से हिंदी भाषा से जुड़े संस्मरण को याद किया ढ्ढ शासक,अभिषेक और तुषार ने हिन्दी भाषा को अपने दिन प्रति दिन की जीवनचर्या में अपनाने पर बल दिया, निशा और फरहीन ने यह कहा कि हिन्दी भाषा को आगे नही होने का कारण क्षेत्रीय भाषा को राज नेताओ का सरंक्षण और उनका अहम रहा जिससे हिंदी अपना स्थान नही बना सकी, भारत के दक्षिण राज्यों की फिल्में हिंदी भाषा में अनुवाद होकर यह प्रमाणित करता है कि एक भाषा का संवाद हम सभी को एक सूत्र में बांधता है ढ्ढ विचार गोष्ठी का सार यह रहा कि हमे स्वंय को हिंदी के लिए समर्पित करना होगा जिससे हिंदी का वर्चस्व बढ़ेगा ढ्ढ विचार गोष्ठी में एस डी कॉलेज ऑफ़ लॉ परिवार से अमित चौहान, प्रीति चौहान,पूनम शर्मा, अनीता सिंह, अभिनव गोयल, प्रदीप सिंघल,संतोष शर्मा, अमित त्यागी,अमित भारद्वाज, गरिमा तोमर, प्रीति दीक्षित,अभिनव अग्रवाल,विपुल गुप्ता, संजीव कुमार, शुभम सिंघल आदि उपस्थित रहे।

 

सिख समाज के लोगों ने राकेश टिकैत से की मुलाकात12 Min 9
मुज़फ्फरनगर। मुजफ्फरनगर का एक प्रतिनिधिमण्डल गाजीपुर बॉर्डर दिल्ली मे भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता चौधरी राकेश टिकैत से मिला ओर ५ सितम्बर महापंचायत मे आये सभी हिन्दू, मुस्लिम, सिख, ईसाई किसानो के लंगर एवं ठहरने की व्यवस्था पर विस्तार से चर्चा हुई। चौधरी राकेश टिकैत ने कहा कि इस महापंचायत मे मुज़फ्फरनगर के समस्त निवासियों जिनमे किसानो, मजूदर, व्यापारी, समाजसेवी संस्थाओ एवं सभी धार्मिक संस्थाओ के लोगो ने आने वाले सभी किसानो का दिल खोल कर स्वागत किया ओर इसका मेसेज पुरे भारत मे मोहब्बत नगर के नाम से गया है। मैं समस्त जनपद वाशियो का इतनी शानदार किसान लोगो की सेवा के लिये धन्यवाद अदा करता हूँ। मुज़फ्फरनगर से गये प्रतिनिधिमण्डल ने गाजीपुर बॉर्डर पर लंगर के लिये सामग्री जैसे आटा,चावल,दाल,पानी की बोतले आदि लंगर (भण्डारो)मे पहुंचाई। १६ सदस्य प्रतिनिधिमंडल मे मुख्य रूप से सरदार सतपाल सिँह मान, श्री गुरु सिँह सभा मुज़फ्फरनगर के प्रधान सरदार गुरुचरण सिँह बराड, सरदार सतनाम सिँह हँसपाल, सरदार हरजीत सिँह गुराया, सरदार गुरुचरण सिँह झझ, सरदार गुरुचरण सिँह पंढेर, सरदार देविंदर सिँह खालसा (शेरपुर खादर),सरदार गुरुमेल सिँह बाजवा,सरदार जसविन्दर सिँह (भदौला फार्म), सरदार महल सिँह (बेकुंठपुर),सरदार गुरुशरण सिँह मान,सरदार देविंदर सिँह दयोल (बिट्टू),सरदार जुझार सिंह,सरदार गुरप्रीत सिंह,सरदार जगदीप सिंह, सरदार सरबजीत सिंह(जट मुझेड़ा)शामिल रहे।

मुजफ्फरनगर की बेटी आकांक्षा गुप्ता ने सीए की परीक्षा उत्तीर्ण कर किया जिले का नाम रोशन13 Min 3
मुजफ्फरनगर। मुजफ्फरनगर की बिटिया आकांक्षा गुप्ता ने सीए की परीक्षा उत्तीर्ण कर जनपद मुजफ्फरनगर का नाम गौरवान्वित किया है। आकांक्षा गुप्ता के पिता प्रदीप गुप्ता मुजफ्फरनगर बार संघ के नामचीन अधिवक्ता है वही माता ममता गुप्ता बैंक अधिवक्ता व भाई तुषार गुप्ता जीएसटी एवं आयकर के प्रतिष्ठित वकील के रूप में कार्य कर रहे हैं। आकांक्षा गुप्ता ने अपनी कामयाबी का श्रेय अपने माता पिता एवं गुरुजनों को दिया है। किसान चिंतक एवं समाज सेवी कमल मित्तल,महाराजा अग्रसेन सेवा समिति के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित अग्रवाल , प्रवीण गुप्ता, अक्षित गुप्ता,अमित मित्तल आदि ने बिटिया आकांक्षा गुप्ता के सीए की परीक्षा उत्तीर्ण करने पर हार्दिक प्रसन्नता व्यक्त करते हुए बिटिया के सुखद भविष्य के लिए कामना की है।

 

 

प्रतियोगिता का आयोजन14 Min 5
जानसठ। कस्बे के गोमती कन्या इंटर कॉलेज में गुरु तेग बहादुर जयंती महोत्सव के तहत ब्लॉक स्तरीय प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। प्रतिभागी छात्राओं को पुरस्कार देकर सम्मानित किया गया ।
कस्बे के गोमती कन्या इंटर कॉलेज की प्रधानाचार्य ज्योति बाला द्वारा गुरु तेगबहादुर जयंती महोत्सव के तहत ब्लॉक स्तरीय निबंध, भाषण व कहानी प्रतियोगिता का आयोजन कराया गया। डीएवी इंटर कॉलेज जानसठ स्वामी कल्याण देव कन्या इंटर कॉलेज जानसठ, सुकलाल आदर्श कन्या इंटर कॉलेज मीरापुर, सरस्वती इंटर कॉलेज जानसठ की छात्राओं ने भाग लिया। कहानी प्रतियोगिता में प्रथम स्थान पलक मित्तल सुकलाल आदर्श कन्या इंटर कॉलेज मीरापुर ने प्राप्त किया। द्वितीय स्थान पर नवदीप गोमती कन्या इंटर कॉलेज जानसठ, तृतीय स्थान पर इशिका स्वामी कल्याण देव कन्या इंटर कॉलेज जानसठ की रही।
वहीं भाषण प्रतियोगिता में प्रथम हर्षित गोमती कन्या इंटर कॉलेज, द्वितीय व तृतीय स्थान साक्षी स्वामी कल्याण देव की रही। वहीं, निबंध प्रतियोगिता में प्रथम स्थान रुचि गोमती कन्या इंटर कॉलेज, द्वितीय स्थान पलक सुकलाल आदर्श कन्या इंटर कॉलेज, तृतीय स्थान प्रज्ञा पाल स्वामी कल्याण देव कन्या इंटर कॉलेज रही। प्रतियोगिता के निर्णायक मंडल में डीएवी इंटर कॉलेज के प्रधानाचार्य समुद्र सेन, राजेंद्र नारंग, रेनू वेदी, राजेंद्र कुमार और नीरज कुमार आदि रहे। मुख्य अतिथियों द्वारा प्रतिभागी बच्चों को शील्ड व प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया।

वाद विवाद प्रतियोगिता का आयोजन16 Min 2
मुजफ्फरनगर। एस०डी० कॉलेज ऑफ कॉमर्स, मुजफ्फरनगर में हिन्दी दिवस पर एक वाद विवाद प्रतियोगिता का आयोजन किया गया है जिसका शुभारम्भ मुख्य रूप से महाविद्यालय के प्राचार्य डा० सचिन गोयल व मानविकी संकाय की विभागाध्क्षा श्रीमति एकता मित्तल ने संयुक्त रूप से किया।
प्रतियोगिता का मुख्य विषय आधुनिकता की पहचान-अंग्रेजी या हिन्दी रहा। जिममें महाविद्यालय के समस्त संकायों के छात्र/छात्राओं ने प्रतिभाग किया। छात्र/छात्राओं ने हिन्दी को सरल भाषा बताया व जिसे लिखना व पढना अत्यन्त ही आसान है भारत वर्ष में ७० प्रतिशत लोग हिन्दी भाषा का उपयोग करते है व हिन्दी ही हमारी आधुनिकता की पहचान होनी चाहिए। प्रतिभाग करने वाले छात्र/छात्राओं में मुख्य रूप से फातीमा, शिवानी, नूर, नशरा, स्वाति, श्रुति, मंजू, तान्या, वंशिका, खुशी, वर्षा, रिया, तनु आदि रही।
प्रतियोगिता में प्रथम स्थान तान्या बी०एस०सी०(गृहविज्ञान), द्वितीय स्थान साक्षी नामदेव (मानविकी विभाग) व तृतीय स्थान पंखुरी गर्ग (बी०एफ०ए०) एवं सांत्वना पुरस्कार इशिका कौशिक (बी०एफ०ए०) व रितिक (मानविकी विभाग) को मिला। प्रतियोगिता में निर्णायक की भूमिका में डा० अमित कुमार, श्रीमति नीतु गुप्ता व श्रीमति एकता मित्तल रहे एवं कार्यक्रम का संचालन श्रीमति गरिमा कंसल ने किया।
महाविद्यालय के प्राचार्य डा० सचिन गोयल ने अपने वक्तव्य में बताया कि भारत में प्रत्येक वर्ष १४ सितंबर को राष्ट्रीय हिन्दी दिवस मनाया जाता है। १४ सितम्बर १९४९ को संविधान सभा ने निर्णय लिया था कि हिन्दी ही भारत की राज भाषा होगी। इस महत्वपूर्ण निर्णय के महत्व को प्रतिपादित करने और हिन्दी को हर क्षेत्र में प्रसारित करने के लिए राष्ट्र भाषा प्रचार समिति, वर्धा के अनुरोध पर वर्ष १९५३ से पूरे भारत में १४ सितम्बर को हिन्दी दिवस के रूप में मनाया जाता है। उन्होनें यह भी कहा कि हिन्दी आत्मनिर्भर भारत के निर्माण की एक मजबूत कडी है। हिन्दी केवल एक भाषा ही नहीं बल्कि भावनाओं का उमडता सैलाब है, जो हर दिन सफलता के नए सोपान गढ रही है और एक नदी की भांति आगे बढ़ रही है। मानविकी विभाग की विभागाध्यक्षा श्रीमति एकता मित्तल ने महान साहित्यकार भारतेन्दु हरिश्चन्द्र की दो पंक्तियों- श्निज भाषा उन्नति रहे, सब उन्नति के मूल। बिनु निज भाषा ज्ञान के रहत मूढ-के-मूढ। के माध्यम से हिन्दी के महत्व को समझाया। उन्होने कहा कि जो लोग हिन्दी भाषा बोलने वालों को हीन भावना की दृष्टि से देखते है उनको यह बात समझनी होगी की आधुनिक होना केवल अंग्रेजी भाषा बोलना नही हैं, हमारे समाज में ऐसे बहुत से आधुनिक सभ्यता मानने वाले लोग भी है जो हिन्दी बोलने में गर्व समझते है।
प्रतियोगिता को सफल बनाने में महाविद्यालय के समस्त शिक्षकगण व कर्मचारियों आदि का योगदान रहा।

नए पी.डब्ल्यू.डी. गेस्ट हाउस के निर्माण की स्वीकृति प्रदान की17 Min 3
मुजफ्फरनगर। मंत्री कपिल देव अग्रवाल की मांग पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ व उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने मुजफ्फरनगर में नए पी.डब्ल्यू.डी. गेस्ट हाउस के निर्माण की स्वीकृति प्रदान की।
जनपद में वीआईपी आगंतुकों के ठहरने के लिए आधुनिक सुविधाओं से सुसज्जित नए पी.डब्ल्यू.डी. गेस्ट हाउस के निर्माण को लंबे समय से प्रयासरत सदर विधायक एवं स्वतंत्र प्रभार मंत्री कपिल देव अग्रवाल ने बताया कि प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ व उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने जनपद मुजफ्फरनगर में राष्ट्रीय राजमार्ग किमी०-१२२ के समीप पुराने बाईपास की अनुपयोगी भूमि पर नए निरीक्षण भवन निर्माण की स्वीकृति प्रदान की है। मंत्री कपिल देव ने अधिशासी अभियंता एस.पी. सिंह, ए.ई. एस.के. सैनी एवं पी.डब्ल्यू.डी. के अन्य अधिकारियों के साथ साइट का स्थलीय निरीक्षण कर अधिकारियों को जरूरी दिशा-निर्देश दिये। उन्होंने निर्माण कार्य की उच्च गुणवत्ता एवं आधुनिक सुविधाएं सुनिश्चित करने को कहा। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ व उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य का धन्यवाद देते हुए कपिल देव ने बताया कि लगभग ४ करोड़ की लागत से ५,००० वर्ग मीटर में ८ कक्षों का एक भव्य गेस्ट हाउस बनेगा। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार प्रदेश के चंहुमुखी विकास को कृत संकल्पित है। इस अवसर पर भाजपा मंडल अध्यक्ष हरेंद्र पाल, कपिल त्यागी, जिला पंचायत सदस्य तरुण पाल, सागर बाल्मीकि आदि उपस्थित रहे।

सडक मे गड्ढो के कारण टै्रक्टर-ट्राली पलटी
मुजफ्फरनगर। सडक मे गड्ढो के कारण टै्रक्टर-ट्राली पलट गई। ग्रामीणो का आरोप है कि रामपुर तिराहा पर सडक मे हो रहे गडढो से सडक हादसे हो रहे हैं पिछले कई दिनो से कोई ना कोई व्यक्ति सडक हादसे का शिकार हो रहा है। ग्रामीणों का कहना है कि वे लगातार सडक मे गड्ढो की शिकायत कर रहे हैं। परन्तु अभी तक सडक की मरम्मत ना हो पाने के कारण आज सुबह रेत से भरी एक टै्रक्टर-ट्राली अचानक पलट गई। गनीमत यह रही कि इस हादसे मे किसी को कोई गंभीर चोट नही लगी। इस दौरान मार्ग काफी देर तक अवरूद्ध रहा। हादसे की जानकारी मिलते ही रामपुर तिराहा चौकी प्रभारी अनिल राघव मौके पर पहुंचे। पुलिस ने क्रेन मंगवा कर ट्रैक्टर-ट्राली को उठवाया।

 

निशुल्क मोतिया बिंद आपरेशन कैम्प लगेगा
मुज़फ़्फ़रनगर। वरदान संस्थान के उपाध्यक्ष पवन कुमार गोयल ने बताया कि वरदान अस्पताल प्रेमपुरी में एक निशुल्क मोतिया बिंद आपरेशन कैम्प दिनांक २० सितबर दिन सोमवार को को स्व० श्रीमती अनिता तायल की पुण्यतिथि पर उनके पति श्री राम कुमार तायल के सौजन्य से लगाया जा रहा है। इस कैम्प में ड़ा माधुर्य गुप्ता वरिष्ठ नेत्र विशेषज्ञ द्वारा आंखों की जांच निशुल्क की जाएगी व जरूरी दवाइया भी दी जाएगी। कैम्प में चयनित मोतिया बिंद मरीजों का निशुल्क आपरेशन किया जाएगा तथा ऑपरेशन उपरांत दवाइया और चश्मा भी निशुल्क ही दिया जाएगा ।
इस कैम्प में मरीजों का रजिस्ट्रेशन २० सितबर को प्रातः ९ः३० बजे वरदान अस्पताल ७७ प्रेमपुरी, निकट श्रेयांश डेरी के पास पर ही किये जायेंगे । २० सितबर को इस कैम्प में मरीजों को १२रू३० बजे तक निशुल्क देखा जाएगा । वरदान संस्थान के अध्यक्ष अशोक अग्रवाल का कहना है कि पीड़ित मरीज आकर इस निशुल्क सेवा का जरूर लाभ उठाएं ।

 

बंदर के काटने से महिला की दर्दनाक मौत, सरकारी अस्पताल में नहीं मिल पाया रेबीज का इंजेक्शन
मोरना। थाना क्षेत्र के गांव फिरोजपुर खादर में बंदरों के काटने से एक महिला की दर्दनाक मौत हो गई। बंदर के काटने के बाद महिला को सरकारी अस्पताल में रेबीज का इंजेक्शन नहीं मिल पाया। इलाज न मिल पाने के कारण हालत लगातार खराब हो रही थी। देर रात बेगराजपुर मैडिकल कालेज में महिला ने दम तोड दिया।
उत्तर प्रदेश में स्वास्थ्य प्रणाली लगातार दम तोड़ रही है। कोरोना जैसी भयंकर बीमारी से जूझ रहे देश मे स्वास्थ्य प्रणाली में किसी प्रकार का सुधार देखने को नहीं मिल रहा है, इसकी बानगी उस समय देखने को मिली, जब एक महिला ने इलाज के अभाव में तड़प-तड़प कर दम तोड़ दिया। भोपा थाना क्षेत्र के गांव फिरोजपुर खादर की गायत्री धाम कॉलोनी निवासी शिमला पत्नी सोमपाल बीते २८ अगस्त को अपने घर में काम कर रही थी, तभी एक बंदरों के झुंड ने महिला पर हमला बोल दिया और उसे कई जगह से बुरी तरह काट लिया। महिला का शोर सुन कर आए पड़ोस के लोगों ने किसी तरह बंदरों को भगाकर महिला को उनके चंगुल से छुड़ाया। मगर तब तक महिला गंभीर रूप से घायल हो चुकी थी। सूचना पर पहुंचे परिजन महिला को लेकर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र मोरना पर पहुंचे, परंतु वहां महिला को रेबीज का इंजेक्शन उपलब्ध नहीं हो पाया, तब चिकित्सकों ने किसी प्राइवेट चिकित्सक से संपर्क किया और महिला का उपचार कराया, परंतु महिला की हालत बिगड़ती चली गई।
देर रात महिला की हालत ज्यादा खराब होने पर परिजन उसे मुजफ्फरनगर मेडिकल कॉलेज में लेकर पहुंचे, जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। महिला की मौत से परिजनों में हाहाकार मच गया। ग्रामीणों ने प्रशासन से बंदरों को पकड़वाने व रेबीज के इंजेक्शन उपलब्ध कराने की मांग की है।
फिरोजपुर खादर में बंदरों का आतंक इस कदर सिर चढ़कर बोल रहा है कि गांव के लगभग एक दर्जन लोग इनके काटने से घायल हो चुके हैं। ग्राम प्रधान पति राजकुमार ने बताया कि फिरोजपुर खादर के विधान, प्रेमो, शिवानी, वंशिका आदि लोग बंदरों के हमले से घायल हुए हैं। ग्राम वासियों ने बंदरों को पकड़वाने की मांग की है।

 

युवती ने घर मे रखे जहरीले पदार्थ का सेवन किया
मुजफ्फरनगर। अज्ञात कारणो के चलते एक युवती ने घर मे रखे जहरीले पदार्थ का सेवन कर लिया। इस हादसे से घबराये परिजनो ने पडौसियों की मद द से उक्त युवती को उपचार के लिए अस्पताल भिजवाया। सूत्रो के अनुसार कोतवाली क्षेत्र के गांव वहलना निवासी एक युवती ने आज सुबह घर मे हुई कहासुनी से क्षुब्ध होकर घर मे रखे जहरीले पदार्थ का सेवन कर लिया। जिससे उसकी हालत बिगड गई। इस हादसे से घबराए परिजनो ने पडौसियो की मदद से उक्त युवती को उपचार के लिए निजी अस्पताल भिजवाया।

 

हिंदी दिवस के उपलक्ष्य में विचार गोष्ठी का आयोजन19 Min
मुजफ्फरनगर। श्रीराम कॉलेज के कृषि विभाग एवं बायोसाइंसेज विभाग द्वारा हिंदी दिवस के उपलक्ष्य में विचार गोष्ठी का आयोजन हुआ। जिसका संचालन महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ आदित्य गौतम, डीन एजूकेशन डॉ प्रेरणा मित्तल, डीन अकादमिक डॉ विनीत कुमार शर्मा, कृषि विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ नईम तथा बायोसाइंसेज विभाग के विभागाध्यक्ष डा0 अश्वनी कुमार के द्वारा किया गया। इस कार्यक्रम में छात्र-छात्रों ने हिंदी भाषा पर बडी उत्सुकता के साथ अपने-अपने विचार प्रस्तुत किये।
इस अवसर पर श्रीराम कॉलेज के प्राचार्य डॉ आदित्य गौतम ने बताया की हिंदी भाषा हमारी संस्कृति की नीव है। हिंदी दिवस का मुख्य उद्देश्य वर्ष में एक दिन इस बात से लोगों को रूबरू कराना है कि जब तक वे हिन्दी का उपयोग पूरी तरह से नहीं करेंगे तब तक हिन्दी भाषा का विकास नहीं हो सकता है। उन्होनं कहा कि हिंदी भाषा के प्रति हमारी यह महत्वपूर्ण जिम्मेदारी यह है कि हिंदी को राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर लोगो को जोडने का सशक्त माध्यम बनाया जाये। जिससे अंग्रेजी की तरफ दौडता हुआ समाज हिन्दी के प्रभाव और महत्व को जानकर हिन्दी से जुडे और हिन्दी भाषी होने पर गौरवन्वित होने का अहसास करें। उन्होंने कहा कि हमें कम से कम एक दिन सभी सरकारी एवं निजी कार्यालयों में अंग्रेजी के स्थान पर हिन्दी भाषा का उपयोग कर कार्य करना चाहिये।
हिन्दी दिवस के अवसर पर डीन एजूकेशन डॉ प्रेरणा मित्तल ने छात्रों को हिंदी भाषा की महत्वता के बारे में बताते हुए कहा की कई लोग अपने सामान्य बोलचाल में भी अंग्रेजी भाषा के शब्दों का या अंग्रेजी का उपयोग करते हैं जिससे धीरे- धीरे हिन्दी के अस्तित्व को खतरा पहुँच रहा है। जिस तरह से टेलीविजन से लेकर विद्यालयों तक और सोशल मीडिया से लेकर निजी तकनीकी संस्थानों एवं निजी दफ्तरों तक में अंग्रेजी का दबदबा कायम है। उससे लगता है कि अपनी मातृभाषा हिन्दी धीरे-धीरे कम और फिर दशकों बाद विलुप्त ना हो जाये। यदि शीघ्र ही हम छोटे-छोटे प्रयासों द्वारा अपनी मातृभाषा हिन्दी को अपने जीवन में एक अनिवार्य स्थान नहीं देंगे तो यह दूसरी भाषाओं से हो रही स्पर्धा में बहुत पीछे रह जायेगी। कुछ लोग हिंदी जानते हुए भी इंग्लिश में बोलते है लेकिन हिंदी में बोलना कोई हीनता नहीं है बल्कि एक गर्व का विषय है।
श्रीराम कॉलेज के डीन एकेडमीक डॉ विनीत शर्मा के द्वारा बताया गया की हिन्दी दिवस प्रत्येक वर्ष 14 सितम्बर को मनाया जाता है। 14 सितम्बर 1949 को संविधान सभा ने यह निर्णय लिया कि हिन्दी केन्द्र सरकार की आधिकारिक भाषा होगी। क्योंकि भारत मे अधिकतर क्षेत्रों में ज्यादातर हिन्दी भाषा बोली जाती थी इसलिए हिन्दी को राष्ट्रभाषा बनाने का निर्णय लिया और इसी निर्णय के महत्व को प्रतिपादित करने तथा हिन्दी को प्रत्येक क्षेत्र में प्रसारित करने के लिये वर्ष 1953 से पूरे भारत में 14 सितम्बर को प्रतिवर्ष हिन्दी दिवस के रूप में मनाया जाता है। स्वतन्त्रता प्राप्ति के बाद हिन्दी को आधिकारिक भाषा के रूप में स्थापित करवाने के लिए काका कालेलकर हजारीप्रसाद द्विवेदी सेठ गोविन्ददास आदि साहित्यकारों को साथ लेकर राजेन्द्र सिंह ने अथक प्रयास किये। तथा हमारे देश में संस्कृति का प्रयोग भी जरुरी है क्योकि संस्कृति में शब्द बदलने पर उनका अर्थ नहीं बदलता इस भाषा का ये सबसे बड़ा फायदा है।
इस अवसर पर कृषि विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ नईम ने बताया की हिन्दी सप्ताह 14 सितम्बर से एक सप्ताह के लिए मनाया जाता है। इस पूरे सप्ताह अलग अलग प्रतियोगिता का आयोजन किया जाता है। यह आयोजन विद्यालय और कार्यालय दोनों में किया जाता है। इसका मूल उद्देश्य हिन्दी भाषा के लिए विकास की भावना को लोगों में केवल हिन्दी दिवस तक ही सीमित न कर उसे और अधिक बढ़ाना है। इन सात दिनों में लोगों को निबन्ध लेखनए आदि के द्वारा हिन्दी भाषा के विकास और उसके उपयोग के लाभ और न उपयोग करने पर हानि के बारे में समझाया जाता है। इस कार्यक्रम के दौरान कृषि विभाग के प्रवक्ता मुकुल मोतला, आबिद, श्रेया अरोरा, अनमोल, रोहित तथा बायोसाइंसेज विभाग के विभागाध्यक्ष डा0 अश्वनी कुमार, विकास त्यागी, सचिन, तथा विभाग के अन्य प्रवक्ता एवं सभी छात्र – छात्राए मौजूद रहे।

News Desk

निष्पक्ष NEWS.जो मुख्यतः मेन स्ट्रीम MEDIA का हिस्सा नहीं बन पाती हैं।

News Desk has 5000 posts and counting. See all posts by News Desk

Avatar Of News Desk

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

seven − 7 =