वैश्विक

भारत ने अब तक लद्दाख में चीन को आक्रमणकारी नहीं माना: स्वामी

अब तक चीनी सेना के LAC से पीछे हटने की पुष्टि भी नहीं हो पाई है। इस बीच आंतरिक और बाहरी सुरक्षा के मुद्दे पर अपनी ही सरकार को लगातार घेरने वाले भाजपा सांसद सु्ब्रमण्यम स्वामी ने इस बार कांग्रेस को भी नहीं बख्शा है। एक तरफ उन्होंने लद्दाख में चीन को आक्रामणकारी न मानने के लिए मोदी सरकार पर निशाना साधा, वहीं कांग्रेस पर पुराने भेद खुलने के डर को लेकर हमला बोला।

 दरअसल, ट्विटर पर एक यूजर ने गुरुवार को भाजपा सांसद से पूछा था कि अमेरिका के ब्लू डॉट नेटवर्क (दुनियाभर में अमेरिका के व्यापारिक मार्ग बनाने की योजना) को चीन की बेल्ड एंड रोड योजना का विकल्प पर देखा जा सकता है?

इस पर स्वामी ने जवाब देते हुए मोदी सरकार को ही घेर लिया। उन्होंने लिखा, “पहले तो भारत को फैसला करना होगा कि वह क्वाड (Quad) के साथ मजबूती से खड़ा है। इसके बाद वह ब्लू डॉट नेटवर्क के प्रस्ताव को स्वीकार कर सकता है।”

स्वामी ने आगे कहा, “लेकिन मोदी अभी भी यह निर्धारित करने में डंवाडोल नजर आ रहे हैं कि हम किसकी तरफ हैं, क्योंकि भारत ने अब तक लद्दाख में चीन को आक्रमणकारी नहीं माना है। अब तो चीन ने लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल (एलएसी) के करीब एयरपोर्ट्स तैयार कर लिए हैं और शायद डेपसांग में एक हेलिपैड भी।”

 सुब्रमण्यम स्वामी यहीं नहीं रुके। उन्होंने विपक्षी दल पर चीन की आक्रामकता और केंद्र सरकार को न घेरने को लेकर सवाल उठाया। अगले ट्वीट में उन्होंने लिखा, “क्या कांग्रेसी नेताओं ने लद्दाख में चीन के आक्रमणकारी होने की आलोचना की है? मैंने सिर्फ कुछ कमजोर बयान सुने हैं, लेकिन किसी कांग्रेसी ने चीनी आक्रमकता की आलोचना करते हुए नीतिगत बयान नहीं जारी किया है। क्या उन्हें इस बात का खुलासा होने का डर है कि डेपसांग पर चीन ने यूपीए शासन के दौरान कब्जा किया था?”

News Desk

निष्पक्ष NEWS,जो मुख्यतः मेन स्ट्रीम MEDIA का हिस्सा नहीं बन पाती हैं।

News Desk has 6028 posts and counting. See all posts by News Desk

Avatar Of News Desk

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

fifteen + 20 =