Muzaffarnagar News:  ठंड का सितम जारी, गर्म वस्त्रों की खरीदारी करने में अधिक लगे नजर आए लोग

Muzaffarnagar News: मुजफ्फरनगर। ठंड का असर अभी कम नहीं होने का नाम ले रहा है। दिनों दिन ठंड अभी बढ ही रही है न कि कम हो रही है। पिछले तीन दिनों तक रूक-रूककर हुई बारिश के बाद धूप के दर्शन दो दिनों से नहीं हुए वहीं धूप न खिलने से लोगों को ठंड ने हिलाकर रख दिया है। अधिकाशं लोग घरों से दोपहर के समय ही निकल रहे है

सुबह दस बजे तक सड़कों पर बहुत कम आवाजाही रहती है साथ ही बाजार भी शाम के जल्द ही बंद होने शुरू हो जाते है। सुबह के समय घना कोहरे में वाहन रेंग-रेंंगकर लाईटों के सहारे चलते दिखाई देते है।

बारिश के दौर से शुरू हुआ सर्दी का भीषण सितम निरंतर बढ़ता जा रहा है। पारा भी ढलान की ओर अग्रसर है तथा बादलों संग छाए घने कोहरे के बाद चली सर्द हवाएं कंपकपी छुड़ाने में कोई कसर नहीं छोड़ रही है।

कई दिन हुई बारिश के बाद धूप खिलने से रहात की बाट जोह रहे नगरवासियों को दोपहर के समय हल्की धूप के दर्शन हुए हालांकि धूप में सर्द हवाओं के कारण गर्माहट न के बराबर थी। दिन चढ़ने के साथ ही सर्द हवाओं के जोर पकड़ने से कोहरा छंटा लेकिन बादलों के छाए रहने के कारण सूर्य देव दोपहर बारह बजे के करीब नजर आये। हालात यह रहे कि लोग गर्म कपड़ों में लिपटे अथवा आग सेकते पूरा दिन सर्दी से बचाव करते नजर आ रहे थे। भयंकर सर्द हवाओं के चलने से सर्दी चरम पर पहुंच गई थी तथा शाम जल्दी ढलने से अंधकार छाने लगा था। ठंढ के कारण बाजार में अधिकांश लोग गर्म वस्त्रों की खरीदारी करने में अधिक लगे नजर आए।

भगत सिंह रोड, रूडकी रोड, झांसी की रानी आदि में गर्म कपड़ों की दुकानों पर तो ग्राहक दिखाई दी।कोहरे व सर्दी के कारण सरकारी कार्यालयों में अधिकारी व कर्मचारी सर्दी से बचाव करते नजर आए। उधर मुख्यमार्गों व हाइवे पर वाहनों की आवाजाही में कोई खास कमी दर्ज नहीं की गई।सवेरे के समय वाहन चालकों को काफी दिक्कतें हुईं।

हेडलाइट, फाग लैंप जलाकर चालक वाहनों को चला रहे थे। सुबह करीब साढ़े दस बजे के बाद कोहरा छटा, लेकिन वातावरण में ऊपर की तरफ कोहरा रहा और बादल भी थे। ऐसे में धूप नहीं निकली और शीतलहर भी अधिक रही। लोग सुबह से शाम तक जगह-जगह अलाव तापते दिखे। दुकानों, सरकारी-गैर सरकारी कार्यालयों में अधिकारी-कर्मचारी हीटर ब्लोअर से राहत पाते रहे।शाम को हवा थोड़ी और तेज हो गई। ऐसे में ठंड का सितम और अधिक बढ़ गया।

लोग गर्म कपड़ों से लकदक नजर आए। साथ ही देर शाम शहर की मुख्य सड़कों से लेकर बाजारों तक भी सन्नाटा सा नजर आया, क्योंकि शीतलहर हाथ-पांव सुन्न कर रही थी। हालांकि सूप, फास्ट फूड, मूंगफली, रेवड़ी-गजक की देर शाम तक भी खूब बिक्री होती रही। वहीं, बारिश से गेहूं, आलू, सरसों और सब्जियों की फसलों को काफी नुकसान हुआ है।

मौसम के एक बार फिर बदलने से किसानों की चिता बढ़ी हुई है। साथ ही धूप न निकलने के कारण कपड़ों के कई-कई दिन में सूखने की भी समस्या लोगों के सामने बनी हुई है।

News Desk

निष्पक्ष NEWS.जो मुख्यतः मेन स्ट्रीम MEDIA का हिस्सा नहीं बन पाती हैं।

News Desk has 6985 posts and counting. See all posts by News Desk

Avatar Of News Desk

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

seventeen + twelve =